साइंस के स्टूडेंट्स के लिए बेस्ट हैं ये प्रोफेशन्स

साइंस के स्टूडेंट्स के लिए बेस्ट हैं ये प्रोफेशन्स

साइंस के क्षेत्र में नौकरियों के ढेरों विकल्प हैं। डॉक्टर और इंजीनियर के अलावा दर्जनों ऐसे ऑप्शन हैं, जिन पर सभी की नज़र नहीं जाती है। आइए, उन पर नज़र डालें।

18 March 2021

  • 436 Views
  • 3 Min Read

  • बेटा, पढ़ लिख कर क्या बनोगे? जी, डॉक्टर या इंजीनियर...अमूमन साइंस की पढ़ाई करने वाले स्टूडेंट्स के मुंह से इस जैसे एक-दो करियर विकल्प ही सुनने को मिलते हैं। लेकिन, सच्चाई ये है कि साइंस की स्ट्रीम में विकल्पों की भरमार है। समस्या बस यही है कि ज़्यादातर स्टूडेंट्स को इन विकल्पों के बारे में पता ही नहीं है। खासकर, गांवों में रहने वाले स्टूडेंट्स को जो इन सीमित विकल्पों के आगे कुछ सोच ही नहीं पाते।

     

    इसलिए Knitter पर आपको आज साइंस की स्ट्रीम से जुड़े कुछ ऐसे ही अनकंवेंशनल  करियर विकल्पों के बारे में बताया जाएगा, जिनके बारे में ज़्यादा बात नहीं की जाती है। इस दौरान हम आपको ये भी बताएंगे कि ये करियर विकल्प कौन से हैं? और इनके लिए आपको क्या करना होगा? तो चलिए, आगे बढ़ने से पहले जान लेते हैं कि यहां आपको क्या-क्या जानकारियां मिलेंगी?

     

    आप जानेंगे-

     

    • माइक्रोबायोलॉजिस्ट कौन होते हैं?  इसके लिए कौन सा कोर्स करना पड़ेगा?
    • फूड टेक्नोलॉजिस्ट कैसे बना जा सकता है?
    • जेनेटिसिस्ट बनने के लिए कौन सा कोर्स सही रहेगा?
    • डायटीशियन क्या करते हैं?
    • जियोलॉजिस्ट और इकोलॉजिस्ट क्या काम करते हैं?

     

     साइंस की पढ़ाई आपको दिलाएगी ये खास नौकरियां

     

    माइक्रोबायोलॉजिस्ट

     

    बीते कुछ समय में इस प्रोफेशन के लिए स्टूडेंट्स में काफी उत्साह देखने को मिला है। माइक्रोबायोलॉजिस्ट यानी कि जीव विज्ञानी, जीवों और संक्रमण फैलाने वाले उन एजेंट्स और कारकों पर स्टडी करते हैं, जिन्हें खाली आंखों से देखा नहीं जा सकता है। 

     

    मानवीय जीवन को प्रभावित करने वाले सारे माइक्रो ऑर्गेनिज़्म जैसे कि वायरस और बैक्टीरिया आदि पर ये रिसर्च करते हैं। बीमारियों की रोकथाम और उसके इलाज में इनकी अहम भूमिका होती है।

     

    माइक्रोबायोलॉजिस्ट बनने के लिए कई अंडर ग्रेजुएट और पोस्ट ग्रेजुएट कोर्स मौजूद हैं। आप इनमें से किसी एक का चुनाव कर इस दिशा में आगे बढ़ सकते हैं।

     

    ग्रेजुएशन कोर्स

     

    • बी.एससी. इन माइक्रोबायोलॉजी
    • बैचलर ऑफ साइंस इन क्लीनिकल माइक्रोबायोलॉजी
    • बैचलर ऑफ साइंस इन एप्लाइड माइक्रोबायोलॉजी

     

    पोस्ट ग्रेजुएशन कोर्स    

     

    • एम.एससी. इन माइक्रोबायोलॉजी
    • एम.एससी. इन माइक्रोबियल जेनेटिक्स एंड बायोइंफॉर्मेटिक्स
    • एम.एससी. इन मेडिकल माइक्रोबायोलॉजी

     

    नौकरी के अवसर

     

    माइक्रोबायोलॉजी की डिग्री लेकर आप हेल्थकेयर सेक्टर, फॉरेंसिक लैब, रिसर्च संस्थान, फार्मा कंपनियों और पर्यावरण संरक्षण से जुड़ी संस्थाओं का हिस्सा बन सकते हैं।

     

    माइक्रोबायोलॉजी के क्षेत्र से जुड़े कुछ अन्य करियर विकल्प

     

    • फार्माकॉलोजिस्ट 
    • क्लीनिकल रिसर्च एसोसिएट
    • पर्यावरण जीव वैज्ञानिक
    • बायोमेडिकल साइंटिस्ट

     

    फूड टेक्नोलॉजिस्ट

     

    फूड मैन्युफैक्चरिंग और प्रिज़र्वेशन के क्षेत्र में नई तकनीकों का विकास करना इनका प्रमुख काम होता है। फूड सेफ्टी, हाइजीन और फ्लेवर मैनेजमेंट जैसी चीजें इनके काम का हिस्सा होती हैं। ये हमारे खाने-पीने की चीज़ों से खतरनाक वायरस और बैक्टीरिया को दूर रखने में मदद करते हैं। फूड पैकेजिंग और प्रोसेसिंग इंडस्ट्री में इनकी खासी डिमांड है।

     

    ग्रेजुएशन कोर्स

     

    • बी.एससी. इन फूड टेक्नोलॉजी
    • बी.एससी. इन फूड प्रिज़र्वेशन
    • बी.टेक. इन फूड इंजीनियरिंग
    • बी.एससी. इन फूड साइंस
    • बी.एससी. इन फूड एंड न्यूट्रिशन

     

    पोस्ट ग्रेजुएशन कोर्स

     

    • एम.एससी. इन फूड साइंस
    • एम.एससी. इन फूड एंड न्यूट्रिशन
    • एम.एससी. इन फूड टेक्नोलॉजी
    • पीजी डिप्लोमा इन न्यूट्रिशन एंड डायटिक्स

     

    नौकरी के अवसर

     

    फूड मैन्युफैक्चरिंग प्लांट, रिसर्च लैब्स, कैटरिंग, डेयरी इंडस्ट्री, अस्पताल और कंफेक्शनरी के क्षेत्र में इनके लिए ढेरों मौके हैं।

     

    फूड टेक्नोलॉजी के क्षेत्र से जुड़े कुछ अन्य करियर विकल्प

     

    • ऑर्गेनिक केमिस्ट
    • बायोकेमिस्ट
    • रिसर्च साइंटिस्ट

     

    जेनेटिसिस्ट

     

    जेनेटिक्स के क्षेत्र में इनकी भारी डिमांड है। कैंसर जैसी खतरनाक बीमारियों के लिए रिसर्च करना, स्वास्थ्य से जुड़े संभावित खतरों का पता लगाना और डीएनए सैंपल्स पर काम करना इनकी प्रोफेशनल लाइफ का हिस्सा हैं। मेडिसिन और साइंस के क्षेत्र में इनकी अहमियत बहुत ज़्यादा है। सेल म्यूटेशन और ग्रोथ से जुड़ी रिसर्च पर भी इनकी गहरी पकड़ होती है।

     

    ग्रेजुएशन कोर्स

     

    • बी.एससी. इन जेनेटिक्स
    • बी.एससी. ऑनर्स इन जेनेटिक्स
    • बी.एससी. इन माइक्रोबायोलॉजी, जेनेटिक्स एंड केमिस्ट्री 

     

    पोस्ट ग्रेजुएशन कोर्स

     

    • एम.एससी. इन जेनेटिक्स
    • मास्टर ऑफ फिलॉसफी इन जेनेटिक्स
    • एम.एससी. इन ह्यूमन जेनेटिक्स
    • एम.एससी. इन बायोमेडिकल जेनेटिक्स

     

    नौकरी के अवसर

     

    एक जेनेटिसिस्ट के तौर पर आप फॉरेंसिक डिपार्टमेंट, अस्पताल, फार्मा कंपनियों, रिसर्च संस्थान और कृषि क्षेत्र से जुड़ी कंपनियों में काम कर सकते हैं। यहां तक कि मिलिट्री और विश्वविद्यालयों में भी इससे जुड़े पद होते हैं।

     

    जेनेटिक्स के क्षेत्र से जुड़े कुछ अन्य करियर विकल्प

     

    • जेनेटिक्स लैब टेक्नीशियन
    • क्लीनिकल जेनेटिसिस्ट
    • न्यूट्रिशन एक्सपर्ट
    • बायोटेक्नोलॉजी सेल्स इंजीनियर

     

    डायटीशियन

     

    ये हेल्थकेयर सेक्टर में काम करने वाले वो एक्सपर्ट होते हैं, जो पोषण संबंधी समस्याओं को ठीक करने में मदद करते हैं। मरीजों का डाइट प्लान और मेन्यू तय करना इन्हीं के ज़िम्मे होता है। 

     

    डायटीशियन एक प्रॉपर डाइट और एक्सरसाइज़ प्लान तैयार कर मोटापे, बीपी, शुगर, हाई कोलेस्ट्रॉल और उस जैसी दूसरी समस्याओं से उबरने में आपकी मदद करते हैं। साथ ही शरीर में पोषक तत्वों की कमी की पहचान कर लोगों का ट्रीटमेंट करते हैं।

     

    ग्रेजुएशन कोर्स

     

    • बी.एससी. न्यूट्रिशन एंड डायटिक्स
    • बी.एससी. इन क्लीनिकल न्यूट्रिशन एंड डायटिक्स

     

    पोस्ट ग्रेजुएशन कोर्स

     

    • एम.एससी. इन डायटिक्स एंड न्यूट्रिशन
    • एम.एससी. इन फूड एंड न्यूट्रिशन
    • पीजी डिप्लोमा इन डायटिक्स एंड एप्लाइड न्यूट्रिशन

     

    डायट्री के क्षेत्र से जुड़े कुछ अन्य करियर विकल्प

     

    • कम्युनिटी डायटीशियन
    • क्लीनिकल डायटीशियन
    • पीडियाट्रिक डायटीशियन
    • फूड सर्विस डायटीशियन

     

    जियोलॉजिस्ट

     

    ये भूविज्ञान के क्षेत्र में काम करने वाले साइंटिस्ट होते हैं। ये पृथ्वी के इतिहास, उत्पत्ति और बनावट के अलावा यहां पाए जाने वाले तत्वों पर स्टडी करते हैं। ये धरती के वातावरण और समय-समय पर आने वाली प्राकृतिक आपदाओं पर भी रिसर्च करते हैं। धरती में पानी, तेल और अन्य प्राकृतिक तत्वों की तलाश करने का ज़िम्मा भी इन्हीं पर होता है।

     

    ग्रेजुएशन कोर्स

     

    • बी.एस.सी इन जियोलॉजी
    • बी.एस.सी ऑनर्स इन जियोलॉजी

     

    पोस्ट ग्रेजुएशन कोर्स

     

    • एम.एससी. इन एप्लाइड जियोलॉजी एंड जियोइंफॉर्मेटिक्स
    • एम.एससी. इन पेट्रोलियम जियोलॉजी
    • मास्टर ऑफ जियोलॉजी इन अर्थ साइंस एंड रिसोर्स मैनेजमेंट

     

    नौकरी के अवसर

     

    पेट्रोलियम कंपनियों और माइनिंग क्षेत्र के अलावा मैन्युफैक्चरिंग फर्म, पर्यावरण संरक्षण से जुड़ी संस्थाओं, निजी व सरकारी संस्थानों और इंजीनियरिंग कंपनियों में इनकी नियुक्ति होती है।

     

    जियोलॉजी के क्षेत्र से जुड़े अन्य करियर विकल्प

     

    • पेट्रोलियम जियोलॉजिस्ट
    • जियोमॉर्फोलोजिस्ट
    • जियोफिज़िसिस्ट
    • जियोकेमिस्ट

     

    इकोलॉजिस्ट

     

    इनका हमारे पर्यावरण से खास नाता होता है। ये वो साइंटिस्ट होते हैं, जो पर्यावरण संरक्षण और हैबिटैट मैनेजमेंट पर काम करते हैं। इनकी रिसर्च, स्टडी और प्रोफेशनल नॉलेज के बूते ही पर्यावरण संरक्षण को बल मिलता है।

     

    ग्रेजुएशन कोर्स

     

    • बी.एससी. इन इकोलॉजी

     

    पोस्ट ग्रेजुएशन कोर्स

     

    • एम.एससी. इन इकोलॉजी

     

    नौकरी के अवसर

     

    पर्यावरण संरक्षण एजेंसियों, फर्टिलाइज़र कंपनियों, एनजीओ, पॉल्यूशन कंट्रोल बोर्ड और मॉनिटरिंग संस्थानों में इनके लिए काफी अच्छे मौके होते हैं।   

     

    इकोलॉजी के क्षेत्र से जुड़े अन्य करियर विकल्प

     

    • पर्यावरण पत्रकार
    • हाइड्रोलॉजिस्ट
    • सीनियर प्रोग्राम ऑफिसर
    • वाइल्ड लाइफ फोटोग्राफर और फिल्म मेकर

     

    ये तो कुछ चुनिंदा प्रोफेशन्स हैं, जिन पर साइंस के स्टूडेंट्स काबिज़ हो सकते हैं। इनके अलावा वाइल्ड लाइफ बायोलॉजिस्ट, बायोलॉजिकल रिसर्चर, क्लीनिकल रिसर्च स्पेशलिस्ट और डेयरी टेक्नोलॉजिस्ट जैसे अन्य करियर ऑप्शन्स भी हैं, जिन पर वो विचार कर सकते हैं।

     

    हमें उम्मीद है कि आपको Knitter का यह ब्लॉग पसंद आया होगा। यहां आपको बिज़नेस, कृषि एवं मशीनीकरण, एजुकेशन और करियर, सरकारी योजनाओं और ग्रामीण विकास जैसे मुद्दों पर भी कई महत्वपूर्ण ब्लॉग्स मिलेंगे। आप इनको पढ़कर अपना ज्ञान बढ़ा सकते हैं और दूसरों को भी इन्हें पढ़ने के लिए प्रेरित कर सकते हैं। 

     

     

    लेखक-कुंदन भूत 

     



    यह भी पढ़ें



    करियर गाइड की अन्य ब्लॉग