इन टिप्स को अपनाएं, मैथ्स एग्ज़ाम में आएंगे पूरे नंबर

एग्ज़ाम टिप्स: गणित के पेपर ऐसे करें अच्छा प्रदर्शन

बोर्ड परीक्षाओं में एक मैथ्स स्कोरिंग सब्जेक्ट है। इसमें छात्र कैसे शत प्रतिशत मार्क्स स्कोर कर सकते हैं ? इस ब्लॉग में जानिए।

08 March 2021

  • 57 Views
  • 4 Min Read

  • बोर्ड की परीक्षाओं में कई छात्र मैथ्स सब्जेक्ट से घबराते हैं, जबकि सभी विषयों में से गणित एक ऐसा विषय है जिसमें सबसे ज्यादा स्कोर किया जा सकता है। इसके लिए छात्र साल भर मेहनत भी करते हैं। लेकिन कई बार उस मेहनत का उचित फल नहीं मिल पाता। इसका मुख्य कारण है सही रणनीति से पढ़ाई ना करना और कई बार में परीक्षा हॉल में बैठकर अच्छे से परफॉर्म न कर पाना।

     

    मैथ्स में अच्छे मार्क्स लाने के लिए अच्छी तैयारी के साथ-साथ ज़रूरी है कि परीक्षा हॉल में सही रणनीति के साथ और समय पर अपना पेपर खत्म किया जाए। जिसके लिए आज हम इस ब्लॉग में कुछ टिप्स पर चर्चा  करेंगे ताकि आप आने वाली बोर्ड की परीक्षाओं में मैथ्स में पूरे नंबर ला पाएं।

     

    स्मार्ट स्टडी से होगी बेहतर तैयारी 

     

    अच्छी तैयारी से मतलब है कि स्मार्ट तरीके से प्रभावी तैयारी की जाए न कि रात भर जाग के बहुत ज्यादा मेहनत। इसके लिए तैयारी करते समय इन बातों का ख्याल रखें-

     

    एग्जाम पैटर्न को समझें- एग्ज़ाम के लिए तैयारी शुरू करने से पहले एग्ज़ाम पैटर्न को अच्छे से समझ लें। इस बार सीबीएसई(CBSE) द्वारा बोर्ड परीक्षाओं के लिए मैथ्स के परीक्षा पैटर्न में बदलाव भी किया गया है। इसलिए लेटेस्ट पैटर्न को ही फॉलो करें। कौन से चैप्टर से कितने मार्क्स का पश्न आने वाला है ये अच्छे से समझ लें और कॉपी पर इसके नोट्स बना लें। 

     

    स्कोरिंग चैप्टर्स की तैयारी करें- बेशक मुश्किल चैप्टर्स पर ज़्यादा मेहनत करने की जरूरत है, लेकिन उससे पहले आसान चैप्टर्स को तैयार कर लें। ताकि कम से कम इन सेक्शन्स से एक नंबर कटने की भी गुंजाइश ना रहे।

     

    सैंपल पेपर की प्रैक्टिस करें- लेटेस्ट सैंपल पेपर्स ऑनलाइन डॉउनलोड करें या मार्केट से खरीद लें। इन पेपर्स को पूरा सॉल्व करने की करने की प्रैक्टिस करें और कोशिश करें की आप इसे एक्युरेटली और टाइम लिमिट के अंदर कर पा रहे हैं। इसके बाद अपने सोल्यूशन्स का खुद मूल्यांकन करें। इससे आपको अपनी तैयारी की कमियां समझ आएंगी और परीक्षा हॉल में बैठकर पेपर सॉल्व करने की प्रैक्टिस भी हो जाएगी। इसके बाद अपने गलत हुए सवालों को देखकर ही सही लेकिन सॉल्व ज़रूर करें।

     

    जरूरी फार्मूलों के नोट्स बनाएं- गणित के सवालों को सॉल्व करने के लिए फार्मूले याद होना बेहद जरूरी है। यदि आपको फॉर्मूला याद है तो मुश्किल सवालों को हल करने में भी कोई परेशानी नहीं रहेगी। इसके लिए अलग से इंपॉर्टेंट कॉन्सेप्ट्स और फार्मूलों को नोट करें और समय-समय पर उन्हें रिवाइज करते रहें।

     

     

    एग्ज़ाम टिप्स: गणित के पेपर ऐसे करें अच्छा प्रदर्शन

     

    परीक्षा में कैसे दें अपना बेस्ट

     

    मैथ्स की परीक्षा में अच्छे नंबर लाने के लिए अच्छी तैयारी के बाद ज़रूरी है कि परीक्षा हॉल में स्टूडेंट समय पर और सही जवाबों के साथ पेपर खत्म कर पाए। इसके लिए ये टिप्स मददगार हो सकते हैं-

     

    प्रश्न पत्र पढ़ें और स्ट्रेटजी बनाएं-  प्रश्न पत्र मिलने के बाद आपको 15 मिनट इसे पढ़ने के लिए दिए जाएंगे। इस टाइम का पूरा इस्तेमाल करें और सवालों को ध्यान से पढ़ें। इसी दौरान दिमाग स्ट्रेटजी बना लें। जो सवाल आपको अच्छे से आते हैं उन्ही को प्राथमिकता के आधार पर सॉल्व करें। कोशिश करें कि सेक्शन वाइज की पेपर को सॉल्व करें।

     

    मुश्किल सवाल को ज्यादा समय ना दें- आसान सवालों को प्राथमिकता देने पर आपका कॉन्फिडेंस बढ़ेगा और इसके बाद आप मुश्किल सवालों को हल करेंगे तो ज्यादा परेशानी नहीं आएगी। यदि आप किसी प्रश्न में फंस जाते हैं तो ज्यादा समय बर्बाद न करें, उसे वहीं छोड़कर अगला सवाल हल करें। समय रहने पर आप आखिर में उस प्रश्न को सॉल्व कर पाएंगे।

     

    स्टेप्स और कैलकुलेशन- सवालों को स्टेप-बाई-स्टेप सॉल्व करने पर ध्यान दें। इससे गलतियों की संभावना भी कम होती है साथ ही स्टेप्स के लिए मार्क्स भी मिलते हैं। वहीं, मैथ्स के एग्जाम में रफ कार्य करने के लिए दाईं तरफ मार्जिन दें। रफ कार्य को सवाल के सॉल्यूशन के साथ ही करें ताकि एग्जामिनर को समझने में आसानी हो। 

     

    ग्राफ पेपर को अच्छे से मार्क करें- बोर्ड परीक्षा में ग्राफ पेपर आपकी आंसर शीट में ही अटैच होता है। उसे ना ही फाड़ें और ना ही कुछ  लिखें। ग्राफ के प्रश्न के जवाब को लिखने के लिए  पेंसिल का ही इस्तेमाल करें। सीधी रेखाएं खीचें, डबलिंग ना करें और पॉइंट्स को क्लीयरली मार्क करे।

    स्पीड और एक्यूरेसी बनाए रखें- पेपर को सॉल्व करते समय घड़ी की सुइयों पर भी ध्यान रखें। एक सेक्शन के लिए पहले ही समय निर्धारित कर लें और उससे ज्यादा समय ना दें। ताकि कोई सवाल छूट ना जाए। इसके अलावा अंत के लिए 15 से 20 मिनट पेपर को रिवाइज करने के लिए बचा के रखें ताकि किसी भी तरह प्रश्न छूट जाने या गलती होने की गुंजाइश न रहे।

     

     

    एग्ज़ाम टिप्स: गणित के पेपर ऐसे करें अच्छा प्रदर्शन

     

     

     इन टिप्स को ध्यान में रखकर यदि आप मैथ्स की परीक्षा तैयारी और अटेम्प्टेशन करेंगे तो पेपर में पूरे के पूरे नंबर लाने से आपको कोई नहीं रोक पाएगा। निटर पर पढ़ाई और करियर से संबंधित दूसरे ब्लॉग पढ़ना ना भूलें, इससे आपको एक बेहतर भविष्य की राह मिलेगी।

     

    लेखक- मोहित वर्मा

     

    करियर गाइड की अन्य ब्लॉग