सुकन्या समृद्धि योजना बनाएगी आपकी लाडली का भविष्य

सुकन्या समृद्धि योजना बनाएगी आपकी लाडली का भविष्य

सुकन्या समृद्धि योजना बेटियों के भविष्य को संवारने में अहम भूमिका निभाती है। आइए, इस ब्लॉग के ज़रिए इस योजना को समझने का प्रयास करते हैं।


अक्सर माता-पिता अपनी बेटियों की पढ़ाई, करियर और शादी को लेकर चिंतित रहते हैं। उन्हें हमेशा इन मौकों पर होने वाले खर्चों की चिंता रहती है। ऐसे में एक सही जगह अपनी जमापूंजी  निवेश करने से उनकी मदद हो सकती है।

केंद्र सरकार की सुकन्या समृद्धि योजना ऐसी स्थिति में आपके लिए बेहद ही लाभकारी हो सकती है। ये न सिर्फ आपको बेटियों के लिए पैसे जमा करने का विकल्प प्रदान करती है, बल्कि उनका सुनहरा भविष्य भी सुनिश्चित करती है।

 

आज Knitter के इस ब्लॉग के ज़रिए हम इस योजना के तमाम पहलुओं को जानने की कोशिश करेंगे ताकि आपकी लाडली के भविष्य को लेकर आपके मन में कोई चिंता ना रहे, तो चलिए योजना से जुड़ी जानकारियों पर डालते हैं एक नजर।

क्या है यह सुकन्या समृद्धि योजना?

 

यह केंद्र सरकार की एक महत्वाकांक्षी योजना है जिसे बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओस्कीम के तहत लॉन्च किया गया है। इस योजना के तहत माता-पिता पोस्ट ऑफिस या फिर किसी अधिकृत बैंक में अपनी बेटियों के लिए अकाउंट खुलवा सकते हैं। आप सोच रहे होंगे कि इसमें खास क्या है? तो बता दें कि इसका इंटरेस्ट रेट और मैच्योरिटी टाइम इस अकाउंट को खास बनाता है। वर्तमान में इस पर करीब 7.6 पर्सेंट का ब्याज दिया जा रहा है, जो कि नॉर्मल बचत बैंक खातों की तुलना में काफी ज़्यादा है।     

 

 

 

इसका उद्देश्य क्या है?

 

छोटी बचत को प्रोत्साहन देने के लिए इस योजना की शुरुआत की गई है। जो माता-पिता अपनी बेटियों की पढ़ाई और शादी आदि के खर्चों को लेकर चिंतित रहते हैं, ये उन्हें राहत की सांस लेने का अवसर प्रदान करती है। इस योजना के ज़रिए आप छोटी-छोटी रकम जमा करके भी अपनी बेटियों का बेहतर भविष्य सुनिश्चित कर सकते हैं।

 

 

इसके लाभ क्या हैं?

 

 ·      आप बेटियों की उच्च शिक्षा और शादी के खर्चे के लिए समय पर पैसे जुटा पाएंगे।

·      आपको इनकम टैक्स में भी छूट मिल जाएगी।

·      जमा राशि पर आपको करीब 7.6 प्रतिशत का ब्याज मिलेगा, जो कि सामान्य बचत बैंक खातों की तुलना में कहीं ज़्यादा है।

·      आप छोटी-छोटी रकम जमा करके भी एक बड़ा अमाउंट जुटा पाएंगे।

·      अगर आपकी दो बेटियां हैं, तो आप उनके लिए अलग-अलग अकाउंट भी खोल पाएंगे।  

·      महज़ 250 रुपए में आप इस अकाउंट को खोल सकेंगे।

·      यह खाता बेटी के जन्म के तुरंत बाद भी खोला जा सकता है।

 

कैसे खुलेगा ये अकाउंट?

 

आप पोस्ट ऑफिस या फिर बैंक की किसी अधिकृत शाखा में जाकर इस योजना के तहत अकाउंट खोल सकते हैं। 

क्या करना होगा?

 

  • आपको सुकन्या समृद्धि योजना (SSY) का फॉर्म भरना होगा।
  • प्रमाण के लिए ज़रूरी कागज़ात और फोटो तैयार रखने होेंगे।
  • इसके बाद जमा राशि का भुगतान करना होगा।  
  • प्रीमियम का भुगतान समय पर हो, इसके लिए आप नेट बैंकिंग के ज़रिए ऑटोमेटिक क्रेडिट का विकल्प भी चुन सकते हैं।  

 

कितने पैसे जमा करने होंगे?

 

सुकन्या समृद्धि योजना के तहत आप सालाना 250 रुपए से लेकर 1.5 लाख रुपए तक जमा करा सकते हैं। प्रतिवर्ष 250 रुपए की न्यूनतम राशि तय है, जिसे जमा कराना अनिवार्य होगा। वर्ना अनियमितता के चलते आपको पेनल्टी भरनी पड़ सकती है।

 

पैसे जमा करने की अवधि क्या होगी?

 

इस योजना के तहत आपको 14 साल तक निवेश करना होता है। हालांकि इसकी मैच्योरिटी की अवधि 21 साल तय की गई है लेकिन अच्छी बात ये है कि 14 साल में आप जितनी राशि जमा करते हैं, उस क्लोज़िंग बैलेंस पर आपको अगले 7 साल भी 7.6 पर्सेंट की दर से ब्याज मिलता है।

 

कौन से कागज़ात ज़रूरी होंगे?

 

·      बच्ची का जन्म प्रमाण पत्र

·      माता-पिता के पहचान पत्र

·      ऐड्रेस प्रूफ

 

इसकी पात्रता क्या होगी?

 

 ·      इस योजना के तहत केवल बेटियों का ही अकाउंट खोला जा सकता है।

·      यह अकाउंट उनके 10 साल की आयु पूरी करने के पूर्व ही खोला जा सकता है।

·      बच्ची के माता-पिता या कानूनी अभिभावक ये अकाउंट खुलवा सकते हैं।

·      एक बच्ची के नाम पर दो अकाउंट नहीं खोले जा सकते हैं।

·      इस योजना का लाभ सिर्फ भारतीय नागरिकों को ही मिलता है।

 

अगर पैसे जमा करने में देरी हुई, तो क्या होगा?

 

अगर आप कभी सुकन्या समृद्धि अकाउंट में नियमित रूप से पैसे जमा नहीं कर पाएं, तो भी घबराने की ज़रूरत नहीं है। महज़ 50 रुपए सालाना पेनल्टी भरकर आप उस अकाउंट को वापस नियमित करा सकते हैं, लेकिन आपको योजना के अंतर्गत दी जाने वाली सालाना राशि का भुगतान भी करना होगा। यदि आप पेनल्टी चुकाने में असफल रहते हैं तो आपको मिलने वाली ब्याज दर में कटौती की जाएगी और आपको किसी सामान्य बचत खाते की तरह ही ब्याज मिलेगा।

 

कब निकाले जा सकेंगे पैसे?

 

·        जब आपकी बेटी 18 वर्ष की हो जाती है, तो इस अकाउंट से आधे पैसे निकाले जा सकते हैं।

·        21 साल में यह खाता खुद-ब-खुद बंद हो जाता है, तब ये पैसे आपको मिल जाते हैं।

·        यदि आपकी बेटी की शादी 18-21 वर्ष के बीच हो जाती है, तो खाता बंद किया जा सकता है।

तो समझ में आई ये बात? कितनी ज़रूरी है आपकी लाडली बेटी के लिए यह योजना।

हमें उम्मीद है कि Knitter का यह ब्लॉग आपको पसंद आया होगा और आप इस योजना को आसानी से समझ भी पाए होंगे। 

यहां यह बताना भी ज़रूरी है कि Knitter पर आपको सिर्फ योजनाओं की जानकारी नहीं मिलती है बल्कि आप ग्रामीण विकास, कृषि एवं मशीनीकरण जैसे मुद्दों पर भी कई तरह के ब्लॉग्स पढ़ सकते हैं, तो फिर बने रहिए Knitter के साथ और चुनते रहिए ज्ञान के मोती।   

 



यह भी पढ़ें



केन्द्र सरकार की योजनाएं की अन्य ब्लॉग