रेल का सफर हुआ महंगा, जानें कितना बढ़ा किराया?

छोटी दूरी के लिए रेलवे ने बढ़ाया किराया, जानें नई दरें

एक तो पेट्रोल-डीज़ल की आसमान छूती कीमतें, उस पर ट्रेन का किराया भी बढ़ गया। रेल में सफर से पहले अपनी पॉकेट ज़रूर देख लें।

26 February 2021

  • 322 Views
  • 2 Min Read

  • अगर आप ट्रेन से सफर करने जा रहे हैं, तो जान लीजिए कि कोरोना संकट के बाद शुरू हुई रेल यात्रा अब और महंगी हो चुकी है। सुनकर झटका लगना वाजिब है, लेकिन ये सही है कि अब पैसेंजर और कम दूरी की ट्रेनों का किराया बढ़ चुका है।

     

    भारतीय रेलवे ने पैसेंजर और कम दूरी की ट्रेन के किराये में वृद्धि की है। इस बढ़े हुए किराये पर रेलवे का कहना है कि कोविड काल में भीड़ को कम करने के लिए ये कदम उठाया गया है।

     

     

    जानें कितना होगा किराया

     

    रेलवे के अनुसार, अब छोटी यात्रा के लिए भी मेल/एक्सप्रेस के बराबर का किराया देना होगा। ऐसे में 40 से 50 किलोमीटर दूरी तय करने यात्रियों को ज़्यादा किराया देना होगा। कुछ कम दूरी की ट्रेनों को देखते हुए अगर समझा जाए तो अमृतसर से पठानकोट का किराया अब 55 रुपये है, जो पहले 25 रुपये था। वहीं, जालंधर से फिरोजपुर के लिए डीएमयू का किराया 30 रुपये से बढ़कर 60 रुपये हो चुका है। 

     

    समझिए रेलवे का गणित

     

    कोरोना के बाद से फिलहाल  65 फीसदी मेल/एक्सप्रेस ट्रेन चलाई जा रही हैं। वहीं, 90 प्रतिशत सब-अर्बन ट्रेनों का संचालन किया जा रहा है। अब कम दूरी की लोकल और पैसेंजर ट्रेनों को भी शुरू किया जा रहा है। करीब 300 से ज़्यादा पैसेंजर ट्रेनें चल रही हैं। रेलवे के अनुसार, कम दूरी की पैसेंजर ट्रेनें, कुल पैसेंजर ट्रेनों का सिर्फ़ 3% ही है। इसका असर बहुत कम यात्रियों पर पड़ेगा। 

     

    कोरोना से हुआ घाटा

     

    रेलवे के मुताबिक, कोविड-19 संकट के चलते भारतीय रेलवे को करीब 5 हज़ार करोड़ रुपये का सालाना नुकसान हो रहा है। 

     

    बाद में घटेगा किराया?

     

    भारतीय रेलवे इस किराये को बाद में घटाएगा। इस पर स्पष्ट तौर पर कहना मुश्किल है, समय-समय पर किराये को लेकर रिव्यू होता रहता है। 

     

    मार्च 2020 से बंद सामान्य ट्रेनों का संचालन

     

    यहां बता दें कि 22 मार्च 2020 को देश में लॉकडाउन के चलते सामान्य ट्रेनों के संचालन को बंद किया गया था। सामान्य की जगह स्पेशल ट्रेन ही चलाई जा रही थीं। आज भी अपनी बढ़ी हुई संख्या के साथ स्पेशल ट्रेनें ही चल रही हैं।

     

    ये तो थी रेलवे में बढ़े किराये की बात लेकिन, Knitter पर आपको कृषि एवं मशीनीकरण, एजुकेशन और करियर, सरकारी योजनाओं और ग्रामीण विकास जैसे मुद्दों पर भी कई महत्वपूर्ण ब्लॉग्स मिलेंगे, जिनको पढ़कर अपना ज्ञान बढ़ा सकते हैं और दूसरों को भी इन्हें पढ़ने के लिए प्रेरित कर सकते हैं।   

     

     

    ✍️ लेखक- नितिन गुप्ता

     



    यह भी पढ़ें



    ट्रेंडिंग टॉपिक की अन्य ब्लॉग