सामाजिक सुरक्षा का भरोसा है प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन योज

सामाजिक सुरक्षा का भरोसा है प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन योजना

प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन योजना असंगठित क्षेत्र में काम करने वाले करोड़ों श्रमिकों को सामाजिक सुरक्षा प्रदान करेगी। आइए, इस योजना को समझने का प्रयास करते हैं


 

असंगठित क्षेत्र में काम करने वाले लोगों को अक्सर आर्थिक परेशानियों का सामना करना पड़ता है। उनकी आमदनी काफी कम होती है और बचत के नाम पर उनके पास ज़्यादा कुछ नहीं होता। सामाजिक सुरक्षा की दृष्टि से उनका जीवन हमेशा परेशानियों से भरा रहता है। खासकर तब, जब वे बूढ़े हो जाते हैं या काम करने की उम्र में नहीं होते हैं। “प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन योजना” उनकी इन्हीं परेशानियों का हल है।

 

यहां बताना ज़रूरी है कि देश में करीब 42 करोड़ लोग असंगठित क्षेत्र में काम कर रहे हैं, जिनमें से ज़्यादातर लोग सामाजिक सुरक्षा जैसे महत्वपूर्ण पहलूओं से कोसों दूर हैं, लेकिन इस योजना के आते ही कुछ ही समय में करीब 40 लाख लोग इससे जुड़ चुके हैं। Knitter के इस ब्लॉग में आपको इस योजना की पूरी जानकारी मिलेगी, तो चलिए, आगे बढ़ते हैं और योजना को समझते हैं।

 

क्या है यह योजना?

यह असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों के लिए तैयार की गई देश की सबसे बड़ी पेंशन योजना है। 5 मार्च 2019 को खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुजरात के गांधीनगर से इसकी शुरुआत की थी। उम्मीद है कि इस योजना से देश के करीब 42 करोड़ श्रमिकों को लाभ मिलेगा।

 

योजना का उद्देश्य:

असंगठित क्षेत्र में काम करने वाले लोगों को सामाजिक सुरक्षा प्रदान करना ही इस योजना का प्रमुख उद्देश्य है। यह योजना बुढ़ापे में श्रमिकों का सहारा बनेगी और इससे उन्हें हर महीने कम से कम 3 हज़ार रुपये की पेंशन मिलेगी। उन्हें किसी पर आश्रित भी नहीं रहना पड़ेगा।

 

इसके लाभ क्या हैं?   

  • मात्र 55 रुपये प्रति महीने देकर आप इस योजना से जुड़ सकते हैं।
  • खास बात ये है कि योजना के तहत आप जितनी राशि देते हैं, उतनी ही राशि सरकार अपनी तरफ से भी देती है। यानी कि दोगुनी राशि आपके खाते में जमा होती है।
  • योजना से जुड़े व्यक्ति को 60 वर्ष की उम्र के बाद हर महीने कम से कम 3 हज़ार रुपये की पेंशन मिलती है।
  • सबसे बड़ी बात आपको अपने बुढ़ापे में किसी दूसरे पर निर्भर नहीं रहना पड़ता है। आप अपनी पूरी ज़िंदगी आत्मनिर्भरता के साथ जी पाएंगे।

 

 

  • असंगठित क्षेत्र से जुड़े श्रमिक जिनकी आयु 18 से 40 वर्ष के बीच होगी, वे इस योजना का लाभ ले सकेंगे, लेकिन उन्हें ये भी सुनिश्चित करना होगा कि वे किसी अन्य सरकारी पेंशन का लाभ ना ले रहे हों।
  • रेहड़ी लगाने वाले दुकानदार, मजदूर, घर में काम करने वाले नौकर, रिक्शा चालक, ड्राइवर आदि जैसे लोग इस योजना का हिस्सा बन सकते हैं।
  • आवेदन करने वाले व्यक्ति की महीने की आमदनी 15 हज़ार रूपये से अधिक नहीं होनी चाहिए।

 

 कौन नहीं होगा इसका हकदार?

  • संगठित क्षेत्र में काम करने वाले लोगों को इसका लाभ नहीं मिलेगा।
  • जो लोग ईपीएफओ, ईएसआईसी या एनपीएस की स्कीम से जुड़े होंगे, वो इसका लाभ नहीं ले पाएंगे।
  • इनकम टैक्स भरने वाला कोई भी व्यक्ति इसका हकदार नहीं होगा।

 

 कितने पैसे जमा करने होंगे?

यहां आपकी उम्र महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। मान लीजिए, आप 18 की उम्र में इस योजना से जुड़ते हैं, तो आपको हर महीने महज़ 55 रुपये ही देने होंगे। उसी तरह यदि आप 30 के हैं, तो ये प्रीमियम 105 रुपये तक चला जाएगा। ठीक इसी तरह यदि आपकी आयु 40 की है, तो आपको हर महीने 200 रुपये देने पड़ सकते हैं। सरल शब्दों में कहें, तो जितनी ज़्यादा आपकी उम्र होगी, प्रीमियम की राशि उतनी ही अधिक होगी।

 

 कौन से कागज़ात ज़रूरी होंगे?

  • आधार कार्ड
  • जन धन या सेविंग्स अकाउंट 
  • IFSC कोड भी ज़रूरी होगा
  • साथ ही आपको अपना मोबाइल नंबर भी देना होगा

 

 आवेदन की प्रक्रिया क्या होगी?

  • सबसे पहले आपको अपने नज़दीकी कॉमन सर्विस सेंटर (CSC) पर जाना होगा।
  • वहां आपको अपने जनधन अकाउंट या बैंक खाते की जानकारी देनी होनी।
  • प्रूफ के लिए आप अपने बैंक स्टेटमेंट या चेक बुक का इस्तेमाल कर सकते हैं।
  • अब CSC कर्मी अपने कम्प्यूटर में आपका नाम, जन्मतिथि व आधार नंबर दर्ज करेगा और उसे वेरिफाई भी करेगा
  • इसके बाद आपके मोबाइल नंबर, बैंक खाते और नॉमिनी की जानकारी भरकर ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया पूरी की जाएगी
  • जैसे ही ये सारी जानकारियां कम्प्यूटर में दर्ज की जाएंगी, आपको अपने मंथली प्रीमियम की जानकारी खुद ही मिल जाएगी
  • आपको उसी वक्त अपने शुरुआती प्रीमियम का भुगतान कैश में करना होगा
  • अब एनरोलमेंट का एक प्रिन्ट आउट लेकर उस पर आपके हस्ताक्षर लिए जाएंगे
  • उसे स्कैन कर सिस्टम मेंं अपलोड किया जाएगा
  • इसके बाद आपको अपना श्रम योगी अकाउंट नंबर और कार्ड दोनों ही मिल जाएंगे 

 है ना आसान? तो फिर देर किस बात की, यदि आप असंगठित क्षेत्र में काम करते हैं और इस योजना का लाभ लेना चाहते हैं, तो आपको इन जानकारियों पर ज़रूर गौर करना चाहिए। वैसे भी Knitter के इस ब्लॉग को पढ़ने के बाद आपको इस योजना से जुड़ी कई महत्वपूर्ण जानकारियां मिल ही गई होंगी। यदि फिर भी आपको योजना के बारे में कुछ और जानना हो, तो आप इस टोल फ्री नंबर 1800 267 6888 पर कॉल कर अधिक जानकारी हासिल कर सकते हैं।

 

 हमें उम्मीद है कि इस ब्लॉग ने योजना से जुड़े तमाम पहलुओं पर आपका मार्गदर्शन किया होगा। यदि आप अन्य किसी योजना के बारे में जानना चाहते हैं, तो आप (LINK) पर जाकर उनके बारे में पढ़ सकते हैं।  

आपको बता दें कि Knitter पर आपको योजनाओं के अतिरिक्त ग्रामीण विकास, कृषि एवं मशीनीकरण जैसे मुद्दों पर भी कई ब्लॉग्स मिल जाएंगे। तो Knitter के साथ बने रहिए और अपना ज्ञानवर्धन करते रहिए।  

 

 



यह भी पढ़ें



केन्द्र सरकार की योजनाएं की अन्य ब्लॉग