बोर्ड परीक्षा में बेहतर अंक पाने के टिप्स

बोर्ड परीक्षा के ये टिप्स आपको बनाएंगे सबसे बेहतर

परीक्षा में सबकुछ आने के बाद भी सही उत्तर कैसे लिखना है? ये काम किसी कला से कम नहीं है। निटर आपको इससे जुड़ी हर बात बताने की कोशिश करेगा।

08 February 2021

  • 258 Views
  • 3 Min Read

  • एग्ज़ाम में बैठते ही अधिकतर विद्यार्थियों की चिंता बढ़ने लगती है। कई तो नर्वस भी होने लगते हैं। जैसे-जैसे दबाव बढ़ने लगता है, स्टूडेंट्स वो भी भूलने लगते हैं जो उनको अच्छे से आता है। यही वजह है कि हमारा लिखा उत्तर जांचने वाले टीचर को नहीं भाता। 

     

    परीक्षा बोर्ड की हो या फिर कोई और, मगर छात्रों के सामने अच्छा उत्तर लिखने की चुनौती हमेशा रहती है। ऐसा अक्सर देखने को मिलता है कि परीक्षा में हमें सारे सवालों के जवाब आते हैं, लेकिन उनका उत्तर लिखते वक्त हमसे कुछ छोटी-मोटी गलतियां हो जाती हैं। यही सारी गलतियां कमज़ोर रिजल्ट के तौर पर सामने आती हैं। 

     

    जब हम देखते हैं कि सबकुछ सही लिखने के बावजूद हमें अच्छे अंक क्यों नहीं मिले, तो निराशा होती है। आपको इस निराशा से बचाने के लिए निटर लाया है ऐसे टिप्स, जो आपके स्कोर को और बेहतर बनाएगा.और आपका उत्तर हो जाएगा सर्वश्रेष्ठ। तो चलिए शुरू करते हैं जानकारियों से भरा ये सफर।

     

    बोर्ड परीक्षा के ये टिप्स आपको बनाएंगे सबसे बेहतर

     

    1- प्रश्न और उसके महत्व को समझें

     

    ये ज़रूरी नहीं कि जिस क्रम में प्रश्न पूछे गए हैं, उसी क्रम में उनके जवाब भी दिए जाएं। इसलिए, जब बोर्ड परीक्षा (board exam) में बैठते ही आपके पास प्रश्न-पत्र आए तो सबसे पहले उसे अच्छे से पढ़िए। प्रश्न-पत्र पढ़ते ही आपको अंदाज़ लग जाएगा कि आप किन सवालों के जवाब सबसे अच्छे से जानते हैं या पुख्ता तौर पर दे सकते हैं। सरल शब्दों में कहा जाए तो सबसे पहले उन सवालों का जवाब दें, जिन्हें लेकर आपके मन में पूरा विश्वास हो।

     

    2- ज़्यादा शब्द से नहीं मिलते नंबर, सटीक रखें जवाब

     

    छात्र अक्सर सोचते हैं कि आंसर शीट (answer Sheet) को भरने से उनको नंबर मिल जाएंगे। या यूं कहें कि ज़्यादा शब्दों को लिखने से नंबर मिल जाएंगे। लेकिन, ऐसा बिल्कुल भी नहीं है। आंसर का जवाब उसके सवाल के हिसाब से ही दें। कुल मिलाकर ऐसी चीजों को उत्तर में लिखने से बचना चाहिए, जिनका विषय से कोई संबंध न हो। 

    इसको आसानी से ऐसे समझें- अगर आपसे प्रश्न में जलवायु परिवर्तन की परिभाषा पूछी गई है तो केवल परिभाषा ही लिखें, उसके प्रभाव या फिर कारण को समझाने की ज़रूरत नहीं है। 

     

    3- जल्दबाज़ी न करें, पूरा समय लें

     

    उत्तर लिखने के लिए पर्याप्त समय लें। ‘समय लें’ का मतलब हर मामले में समय लेने से है। जैसे- तथ्यों के बारे में सोचने के लिए, उनको व्यवस्थित करने के लिए, उत्तर लिखने का तरीका तय करने के लिए आदि। आखिरकार आपको  टाइम मैनेजमेंट का ध्यान रखना होता है।

     

    4- प्रश्नों के विकल्प को चुनने में बनें स्मार्ट

     

    कई प्रश्नों में विकल्प की सुविधा भी छात्रों को दी जाती है। जिसमें से किसी एक प्रश्न का चुनाव करना बेहद मुश्किल हो जाता है। विद्यार्थी अक्सर बिना सोचे-समझे किसी ऐसे प्रश्न को चुन लेते हैं, जिसको बाद में हल करते समय उन्हें पछताना पड़ता है। ऐसे में आपको घबराने की ज़रूरत नहीं है। आप समझदारी से काम लें। सभी प्रश्नों के उत्तरों के बारे में सोचें। उसके बाद फैसला करें।

     

    5- सभी प्रश्नों को हल करने की कोशिश करें

     

    बोर्ड परीक्षाओं में निगेटिव मार्किंग नहीं होती, इसका फायदा छात्र उठा सकते हैं। जिन प्रश्नों की थोड़ी सी भी जानकारी आपको हो, उसे लिखने की कोशिश करें। उसे छोड़ने से बचें। यहां स्मार्ट वर्क आपके काम आ सकता है।

     

    6- जल्दबाज़ी न करें, सोच-समझकर लिखें

     

    एक-एक वाक्य सोचकर लिखें। भाषा पर ध्यान दें। कोशिश करें कि आपका उत्तर अच्छा बने। जहां भी आपको लगता है कि आप स्वयं को दोहरा रहे हैं, वहां खुद को रोकें। यदि आपको लगता है कि आप किसी एक शब्द के बदले दूसरा शब्द लिख  सकते हैं, तो ऐसा करें। 

     

    7- कॉपी सजाने में वक्त बर्बाद न करें

    छात्र कई बार आंसर शीट को सजाने में वक्त बर्बाद करते हैं। हेडिंग (Headings) या अन्य पॉइंट्स को  अलग रंग से लिखते हैं। इस वक्त का इस्तेमाल सही जगह करना चाहिए। इसका ये मतलब नहीं कि प्रेज़ेन्टेशन को बिल्कुल नकार दें बल्कि आपको वक्त के हिसाब से तालमेल बैठाना चाहिए। आपकी रंग-बिरंगी आंसर शीट से बेहतर है, साफ-सुथरी लिखाई।

     

    8- उत्तर का मूल्यांकन ज़रूर करें

     

    उत्तर का मूल्यांकन आपको विशुद्ध रूप से अपने ही स्तर पर करना है। तभी तो आप इस बात को अच्छी तरह समझ पाएंगे कि लिखने के दौरान कौन-कौन-सी महत्वपूर्ण बातें छूट गई हैं। हो सकता है कि आपने कुछ ऐसा लिख दिया हो, जो तथ्यों से मेल न खा रहा हो। कुछ गलत तथ्य भी लिखे जा सकते हैं। 

     

    9- स्पेस का रखें विशेष ध्यान

     

    उत्तर लिखने में स्पेस का ध्यान रखना बेहद ज़रूरी है। ज़्यादा शब्दों को एक ही लाइन में लिखने से परीक्षक को कॉपी जांचते वक्त दिक्कत हो सकती है। इसका खामियाज़ा आपको रिज़ल्ट में देखने को मिल सकता है। इसके लिए आप ये कर सकते हैं-

     

    • ज़्यादातर उत्तरों को पॉइंट्स बनाकर लिखें।
    • वाक्यों को पैराग्राफ में लिखें।
    • दो उत्तर के बीच स्पेस का ध्यान रखें।

     

    10- ज़रूरत पर बनाएं टेबल या चार्ट

     

    अगर आपके उत्तर में टेबल, चार्ट या किसी चित्र की ज़रूरत है तो ज़रूर इस्तेमाल करें। अगर आप ऐसा कर पाते हैं तो परीक्षक दूर से बैठे-बैठे आपके ज्ञान को समझ पाएगा। मगर अकारण इसे बनाने से बचें। कारण कि ऐसा करने से नुकसान भी हो सकता है।

     

    बोर्ड परीक्षा के ये टिप्स आपको बनाएंगे सबसे बेहतर

     

    हमें उम्मीद है कि निटर की ये जानकारियां आपकी मुश्किलों को आसान करेंगी। हम आगे भी आपको इस तरह कि जानकारियां देते रहेंगे। बस आप बने रहिए हमारे साथ... 

     

    Knitter पर आपको बिज़नेस के अलावा कृषि एवं मशीनीकरण, एजुकेशन और करियर, सरकारी योजनाओं और ग्रामीण विकास जैसे मुद्दों पर भी कई महत्वपूर्ण ब्लॉग्स मिलेंगे, जिनको पढ़कर अपना ज्ञान बढ़ा सकते हैं और दूसरों को भी इन्हें पढ़ने के लिए प्रेरित कर सकते हैं।

     

     

     



    यह भी पढ़ें



    करियर गाइड की अन्य ब्लॉग