हर साल मिलेंगे 6000 रुपये, जुड़ें परिवार समृद्धि योजना से

हर साल मिलेंगे 6000, जुड़ें परिवार समृद्धि योजना से

मुख्यमंत्री परिवार समृद्धि योजना (एमएमपीएसवाई) हरियाणा सरकार की एक महत्वाकांक्षी योजना है। इसमें किसानों को सामाजिक और आर्थिक सुरक्षा प्रदान की जाती है।


हरियाणा के विकास में किसानों का अहम योगदान है। राज्य की कुल जीडीपी में लगभग 14 फीसदी योगदान खेती का है। यहां के बड़े किसान सुविधा सम्पन्न तो जरूर हैं, लेकिन छोटे और सीमांत किसान सामाजिक और आर्थिक दृष्टि से अभी भी पिछड़े हुए हैं। 

 

इसी को ध्यान में रखते हुए राज्य  सरकार ने मुख्यमंत्री परिवार समृद्धि योजना (एमएमपीएसवाई) की शुरुआत की है। यह योजना हरियाणा सरकार की एक अनूठी पहल है, जिसकी शुरुआत 26 जनवरी 2019 को मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने की थी। Knitter के इस ब्लॉग में हम मुख्यमंत्री परिवार समृद्धि योजना (एमएमपीएसवाई)(MMPSY) को आसान भाषा में बताएंगे, जिससे आपको इस योजना का लाभ लेने में मदद मिलेगी। तो आइए जानते हैं, मुख्यमंत्री परिवार समृद्धि योजना क्या है और इसके लिए आवश्यक पात्रता क्या है और इसका लाभ आप कैसे ले सकते हैं। 

 

मुख्यमंत्री परिवार समृद्धि योजना क्या है

 

यह योजना आर्थिक रूप से पिछड़े उन परिवारों के लिए जिनकी सालाना आय 1.80 लाख रुपये से कम है। इस योजना के तहत इन परिवारों को प्रतिवर्ष 6000 रुपये दिए जाने का प्रावधान है। यह धनराशि सामाजिक सुरक्षा, जीवन बीमा, आकस्मिक बीमा और पेंशन के रूप में दी जाती है। इस योजना का लाभ लेने के लिए आवेदक को दो वर्गों में बांटा गया है, जिसका जिक्र हम इसी ब्लॉग में विस्तार से आगे करेंगे। यहां यह भी जिक्र करना आवश्यक है कि इस योजना का लाभ परिवार के किसी एक ही सदस्य को मिलता है ना कि सभी सदस्यों को। इसके लिए सरकार ‘परिवार पहचान पत्र’ भी जारी कर रही है जिससे परिवार की पहचान हो सके। 

 

विशेष- यह पहचान पत्र भी आधार कार्ड की ही तरह है लेकिन यह उन परिवारों की पहचान है जो मुख्यमंत्री परिवार समृद्धि योजना के पात्र हैं। 

 

परिवार पहचान पत्र  आधार कार्ड
यह पहचान पत्र केवल हरियाणा राज्य के निवासियों(परिवारों) के लिए है। यह पहचान पत्र देश के सभी निवासियों के लिए है। 
‘परिवार पहचान पत्र’ परिवार के लिए है। आधार कार्ड व्यक्तिगत पहचान पत्र है। 

 

योजना का उद्देश्य

 

  • राज्य के पात्र परिवारों को जीवन/दुर्घटना बीमा कवर प्रदान करना।
  • पिछड़े वर्गों को सामाजिक और वित्तीय सुरक्षा प्रदान करना। 
  • 60 वर्ष पूरे कर चुके किसानों को पेंशन का लाभ देना। 

 

योजना की पात्रता

 

  1. हरियाणा का स्थायी निवासी 
  2. 1.80 लाख रुपए वार्षिक आय वाला परिवार 
  3. 2 हेक्टेयर तक खेत के काश्तकार (वह किसान जो किसी और किसान से जमीन लेकर फसल उगाए)
  4. आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग (EWS)
  5. 1.5 करोड़ तक के वार्षिक कारोबार वाले छोटे व्यापारी 

 

योजना के लिए जरूरी कागजात

 

  • परिवार पहचान पत्र
  • आधार कार्ड/पहचान पत्र
  • निवास प्रमाण पत्र
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • आय प्रमाण पत्र
  • जमीन का प्रमाण पत्र

 

 

योजना का क्या है स्वरूप

 

इस योजना को दो कैटेगरी में बांटा गया है:

  • जिन किसानों की आयु 18 से 40 वर्ष के बीच में हैं, उन्हें पहली कैटेगरी में रखा गया है। 
  • जिन किसानों की आयु 41 से 60 वर्ष के बीच में हैं, उन्हें दूसरी कैटेगरी में रखा गया है।

 

प्रथम वर्ग (18 से 40 वर्ष का आयु) के लाभार्थियों के लिए

जो किसान 18 से 40 साल के बीच की आयु वर्ग में आते हैं, उन्हें  इस योजना का लाभ लेने के लिए चार विकल्प दिए गए हैं। 

  1. पहले विकल्प में लाभार्थी को मुख्यमंत्री परिवार समृद्धि योजना में रजिस्ट्रेशन कराने पर 2,000 रुपये की तीन समान किस्तों में हर साल 6,000 रुपये मिलेंगे।
  2. दूसरे विकल्प चुनने पर लाभार्थी को पांच साल पूरे होने के बाद 36,000 रुपये मिलेंगे।
  3. तीसरे विकल्प चुनने पर लाभार्थी को 60 वर्ष की आयु प्राप्त करने के बाद 3,000 रुपये से 15,000 रुपये प्रतिमाह पेंशन मिलेगी।
  4. अंतिम यानी चौथे विकल्प में लाभार्थी को पांच साल बाद 15,000 से 30,000 रुपये मिलेंगे, जिसका निर्धारण दिए गए प्रीमियम पर निर्भर करेगा। 

 

द्वितीय वर्ग (41 से 60 वर्ष का आयु) के लाभार्थियों के लिए

जो किसान 41 से 60 साल के बीच की आयु वर्ग में आते हैं, उन्हें इस योजना का लाभ लेने के लिए दो विकल्प दिए गए हैं। 

  1. पहले विकल्प में इस वर्ग के लाभार्थी को 2,000 रुपये की तीन समान किस्तों में हर साल 6,000 रुपये मिलेंगे। 
  2. दूसरे विकल्प का चुनाव करने पर लाभार्थी को पांच साल पूरे होने के बाद 36,000 रुपये  मिलेंगे।

 

योजना हेतु ऑनलाइन आवेदन कैसे करें?

 

मुख्यमंत्री परिवार समृद्धि योजना का आवेदन करने के लिए आवेदकों को ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करना होता है। इसके लिए आप अपने नजदीक में जन सेवा केंद्र, अटल सेवा केन्द्र, अन्‍त्‍योदय केन्द्र, या सीएससी केन्द्रों के माध्यम से ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं।  


 

मुख्यमंत्री परिवार समृद्धि के अंतर्गत आने वाली योजनाएं-

 

इस योजना के तहत केंद्र सरकार की 6 योजनाओं को भी शामिल किया गया है। यानी आप मुख्यमंत्री परिवार समृद्धि योजना के लिए पात्र हैं तो आप इन योजनाओं का भी लाभ उठा सकते हैं। 

  1. प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना
  2. प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना
  3. प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना
  4. प्रधानमंत्री किसान मानधन योजना
  5. प्रधानमंत्री लघु व्यापारी मानधन योजना
  6. प्रधानमंत्री श्रम योगी मान धन योजना


प्रधानमंत्री  जीवन ज्योति बीमा योजना

 

पीएमजेजेबीवाई (PMBJJY) के तहत 18 से 50 वर्ष के बीच एक सदस्य के बीमे का प्रावधान है। इसके लिए 330 रुपये प्रतिवर्ष की दर से प्रीमियम का भुगतान मुख्यमंत्री परिवार समृद्धि योजना से ही होता है।  

 

प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना

 

इस योजना के अंतर्गत परिवार के किसी एक सदस्य का दुर्घटना बीमा का प्रावधान है। जिसके लिए निर्धारित प्रीमियम सरकार वहन करती है। यदि बीमा धारक की मृत्यु हो जाती है तो उसे 2 लाख रुपये की धनराशि प्रदान की जाएगी। 

 

पीएम श्रम योगी मानधन योजना

 

इस योजना के अंतर्गत 60 वर्ष की आयु प्राप्त करने पर लाभार्थियों को 3000 रुपये की धनराशि प्रतिमाह पेंशन के रूप में मिलेगी। पात्र लाभार्थियों के बैंक से ₹55 से ₹200 प्रति माह प्रीमियम का भुगतान स्वचालित रूप से किया जाएगा। प्रतिमाह प्रीमियम देने के बाद ही लाभार्थियों को मासिक पेंशन प्रदान की जाएगी।

 

पीएम किसान मानधन योजना

 

इस योजना के अंतर्गत 60 वर्ष की आयु पूरी होने के बाद 3000 रुपये की मासिक पेंशन सरकार द्वारा प्रदान की जाएगी। यह धनराशि सीधे लाभार्थी के बैंक अकाउंट में प्रदान की जाएगी।

 

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना

 

जैसा कि आप सभी जानते हैं हर साल प्राकृतिक आपदा के चलते भारत में किसानों को काफी नुकसान उठाना पड़ता है। बाढ़, आंधी, ओले और तेज बारिश से उनकी फसल खराब हो जाती है।  उन्हें ऐसे संकट से राहत देने के लिए केंद्र सरकार ने प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना (PMFBY) के तहत किसानों की फसलों का बीमा करती है। जिसके लिए किसानों को खरीफ की फसल के लिए 2 फीसदी प्रीमियम और रबी की फसल के लिए 1.5% प्रीमियम का भुगतान करना होता है। 

 

प्रधानमंत्री लघु व्यापारी मानधन योजना

 

मुख्यमंत्री परिवार समृद्धि योजना के तहत हरियाणा के छोटे व्यापारियों को प्रधानमंत्री लघु व्यापारी मानधन योजना का भी लाभ मिलता है। यह पेंशन उन व्यापारियों के लिए है, जिनका सालाना टर्नओवर 1.5 करोड़ रुपये से कम है। इस योजना में व्यापारियों को 60 साल की उम्र पूरा होने के बाद हर माह 3000 रुपये पेंशन का प्रावधान है। 

 

मुख्यमंत्री परिवार समृद्धि योजना पर एक नजर

 

योजना का नाम मुख्यमंत्री परिवार समृद्धि योजना (MMPSY)
शुरू की गई  हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर द्वारा  2019 में 
उद्देश्य राज्य के पात्र परिवारों को जीवन/दुर्घटना बीमा कवर, पेंशन लाभ, आदि के संदर्भ में सामाजिक और वित्तीय सुरक्षा प्रदान करना
लाभार्थी गरीब परिवार जिनकी सालाना आय 180000 रुपये से कम है
लाभ  6,000 रूपये प्रतिवर्ष
आधिकारिक वेबसाइट https://cm-psy.haryana.gov.in/#/
योजना का प्रकार राज्य सरकार की योजना
 


संक्षेप में कहें तो यह योजना हरियाणा के छोटे किसानों/व्यापारियों और कमजोर वर्ग के परिवारों के लिए बेहतरीन योजना है। इससे उन्हें सामाजिक और वित्तीय सुरक्षा 60 साल से पहले और 60 के बाद भी मिलेगी। 

 

आशा करते हैं मुख्यमंत्री परिवार समृद्धि योजना की पूरी जानकारी आपको Knitter के इस ब्लॉग में मिली होगी। कृषि, ग्रामीण विकास और सरकारी योजनाओं की जानकारी प्राप्त करने के लिए आप हमारे अन्य ब्लॉग को भी पढ़ते रहें। 



यह भी पढ़ें



राज्य सरकार की योजनाएं की अन्य ब्लॉग