मुख्यमंत्री किसान कल्याण योजना : किसानों को मिलेंगे 10 हजार

मुख्यमंत्री किसान कल्याण योजना : किसानों को मिलेंगे 10 हजार सालाना

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना की तर्ज पर मध्य प्रदेश में मुख्यमंत्री किसान कल्याण योजना की शुरुआत की गई है। आइए जानें, इस योजना के बारे में...


 

मध्य प्रदेश एक कृषि प्रधान राज्य है। राज्य में कृषि मानसून पर निर्भर है, जिससे अनिश्चितता की स्थिति बनी रहती है। इसके अतिरिक्त प्राकृतिक आपदा होने पर भी कृषि उत्पादन पर विपरीत प्रभाव पड़ता है। इसी को ध्यान में रखकर राज्य सरकार ने किसानों की आर्थिक सहायता के लिए ‘मुख्यमंत्री किसान कल्याण योजना’ (Mukhyamantri Kisan Kalyan Yojana) की शुरुआत की है। 

 

इस योजना में प्रदेश के किसानों को प्रतिवर्ष दो किस्तों में दो-दो हज़ार रुपये यानी कुल 4,000 रुपये की सम्मान राशि देने का निर्णय किया है। Knitter के इस ब्लॉग में आप ‘मुख्यमंत्री किसान कल्याण योजना’ को विस्तार से समझ सकते हैं। इस लेख में आप आवेदन की प्रक्रिया और लाभ के बारे में जानेंगे।  

 

आइए सबसे पहले जानें


मुख्यमंत्री किसान कल्याण योजना क्या है?

केंद्र सरकार की प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना की तर्ज पर मध्य प्रदेश में 25 सितंबर 2020 को पंडित दीनदयाल उपाध्याय के जन्मदिन पर इस योजना की शुरुआत की गई है।

आपको बता दें, प्रदेश के किसानों को पीएम किसान सम्मान निधि के तहत मिलने वाली 6000 रु की धनराशि के अलावा सालाना 4000 रु और मिलेंगे। यानी मध्य प्रदेश के किसानों को साल में कुल 10 हजार रु की मदद मिलेगी। 

 

मुख्यमंत्री किसान कल्याण योजना का उद्देश्य

 

  •         किसानों का आर्थिक उत्थान
  •        राज्य के किसानों को आत्मनिर्भर बनाना
  •        खेती को फायदे का बिजनेस बनाना
  •      आर्थिक सहायता जिससे किसान बीज, खाद आदि खरीद सकें

 

योजना में आवेदन के लिए पात्रता

 

  •  आवेदक किसान मध्य प्रदेश का निवासी होना चाहिए
  •   किसान के पास कृषि योग्य भूमि होनी चाहिए
  •   लघु और सीमान्त किसान ही योजना का लाभ ले सकेंगे

 

आसान भाषा में कहें तो पीएम किसान योजना के अंतर्गत पात्र किसान को ही मुख्यमंत्री किसान कल्याण योजना का लाभ मिलेगा। 

 

किसानों को कब और कैसे मिलेगा इस योजना लाभ?

मुख्यमंत्री किसान कल्याण योजना के तहत दी जाने वाली आर्थिक मदद को 2 समान किस्तों में दिया जाएगा।

  •  पहली किस्त का भुगतान 1 अप्रैल से 31 अगस्त के बीच किया जाएगा
  •  दूसरी किस्त का भुगतान 1 सितंबर से 31 मार्च के बीच किया जाएगा

 

कैसे करें आवेदन?

 

मुख्यमंत्री किसान कल्याण योजना का लाभ लेने के लिए प्रदेश के किसानों को किसी भी तरह का कोई अलग से आवेदन नहीं करना है। हालांकि इसके लिए किसानों को अपने क्षेत्र के पटवारी से संपर्क करना होगा।  

 

 

संक्षेप में कहें तो यह योजना मध्य प्रदेश के गरीब किसानों के लिए वरदान है। इस आर्थिक मदद से किसान बीज, खाद आदि खरीद सकेंगे और फसल उत्पादन में आने वाली लागत को पूरा करने में समर्थ हो सकेंगे।

 

आशा करते हैं Knitter के इस लेख में आपको मुख्यमंत्री किसान कल्याण योजना के बारे में पूरी जानकारी मिली होगी। इसी तरह के और इंटरेस्टिंग ब्लॉग्स के लिए जुड़े रहिए निटर के  साथ।

 



यह भी पढ़ें



राज्य सरकार की योजनाएं की अन्य ब्लॉग