MCA आपके लिए खोलेगा नौकरियों के ये विकल्प

MCA के बाद स्टूडेंट्स चुन सकते हैं ये नौकरियां

MCA का कोर्स करने के बाद स्टूडेंट्स के पास कई करियर विकल्प होते हैं। आइए, उन विकल्पों पर एक नज़र डालें।

25 March 2021

  • 197 Views
  • 3 Min Read

  • स्टूडेंट्स दो चीज़ों को लेकर अक्सर दुविधा में रहते हैं। पढ़ाई और नौकरी। सबसे बड़ी समस्या तब आती है, जब उन्हें सही मार्गदर्शन नहीं मिलता है। लेकिन, Knitter में हम लगातार यही प्रयास करते हैं कि स्टूडेंट्स को पढ़ाई और नौकरी से जुड़ी सटीक जानकारियां मिले। 

     

    आज के ब्लॉग में हम कुछ ऐसा ही करने जा रहे  हैं, जहां आपको MCA कोर्स के बाद मिलने वाली नौकरियों की जानकारी दी जाएगी। हम आपको बताएंगे कि MCA क्या है? इसमें करियर कैसे बनाया जा सकता है? ऐसे कौन से सेक्टर हैं, जहां जॉब्स हासिल किए जा सकते हैं? तो चलिए, शुरू करते हैं जानकारी से भरा सफर।  

     

    MCA के कोर्स पर एक नज़र

     

    यह एक पोस्ट ग्रेजुएट प्रोग्राम है, जो आपको आईटी जैसे क्षेत्र में नौकरियों के लिए तैयार करता है। गणित और कंप्यूटर साइंस का समावेश इसे बहुत ही खास बनाता है। इसमें आप कंप्यूटर और उससे जुड़ी अवधारणाओं को समझते हैं और प्रैक्टिकल नॉलेज भी हासिल करते हैं। इसके बाद आप में कुछ खास कंप्यूटर स्किल्स डेवलप होते हैं।

     

    MCA की पढ़ाई

     

    इसमें मुख्यतः प्रोग्रामिंग लैंग्वेज और इंफॉर्मेशन टेक्नोलॉजी से जुड़ी बातें पढ़ाई जाती हैं। आप मोबाइल टेक्नोलॉजी, इलेक्ट्रॉनिक्स, फाइनेंशियल अकाउंटिंग, स्टेटिस्टिक्स, क्लाउड कंप्यूटिंग जैसे विषयों में भी गहन ज्ञान हासिल करने में कामयाब रहते हैं। इसके अलावा अल्गोरिथम, डिज़ाइन और ऑप्टिमाइजेशन जैसी चीज़ों के एक्सपर्ट भी बनते हैं।

     

     

    MCA के बाद स्टूडेंट्स चुन सकते हैं ये नौकरियां

     

    योग्यता:

     

    • बी.सी.ए./बी.कॉम./बी.एससी./बी.ए. की डिग्री।
    • 12वीं या ग्रेजुएशन में गणित का एक सब्जेक्ट होना अनिवार्य है।

     

    हालांकि, अलग-अलग कॉलेज और विश्वविद्यालयों में आपको योग्यता के मामले  में थोड़े अंतर देखने को मिल सकते हैं।

     

    करियर विकल्प-

     

    ऐप डेवलपर

     

    ये अलग-अलग प्लेटफॉर्म के लिए ऐप और उसके जैसे दूसरे सॉफ्टवेयर सॉल्यूशन्स मुहैया कराते हैं। इन्हें किसी कंपनी या किसी क्लाइंट के लिए काम करते हुए देखा जा सकता है। मोबाइल टेक्नोलॉजी के क्षेत्र में इनकी गहरी पकड़ होती है। ऐप डेवलप करना, इंटरफेस तैयार करना और समय-समय पर मिलने वाले बग्स को फिक्स करना इनका प्रमुख काम होता है। इन्हें कोडिंग का ज्ञान भी होता है।

     

    नौकरी के अवसर

     

    आईटी फर्म, सॉफ्टवेयर सॉल्यूशन प्रोवाइडर कंपनियां, स्टार्टअप आदि।

     

    डेटाबेस इंजीनियर

     

    ये कंप्यूटर सिस्टम से जुड़े एक्सपर्ट होते हैं, जो डेटाबेस डिज़ाइन करने के साथ-साथ उन्हें मॉनिटर भी करते हैं। सिस्टम में मौजूद डेटा की प्रॉपर फंक्शनिंग का ज़िम्मा भी इन्हीं के कंधों पर होता है। इन्हें SQL और एनालिटिक्स की अच्छी जानकारी होती है। संक्षेप में कहें, तो डेटा ओरिएंटेड बिज़नेस में इनकी महत्वपूर्ण भूमिका होती है।

     

    नौकरी के अवसर

     

    आईटी फर्म, सोशल मीडिया एप्लीकेशन वाली कंपनियां, ओटीटी प्लेटफॉर्म, कंप्यूटर सिस्टम से जुड़ी कंपनियां, बैंक, इंश्योरेंस कंपनियां।

     

    एथिकल हैकर

     

    ये वो एक्सपर्ट होते हैं, जो कंप्यूटर सिस्टम और डेटा आदि से जुड़े खतरों को रोकने के लिए हैकिंग करते हैं। अनैतिक तरीकों से हैंकिंग को अंजाम देने वाले दूसरे हैकर्स के उलट ये लीगल तरीके से हैकिंग करते हैं। एक प्रॉपर अथॉरिटी के तहत वे सिस्टम और डेटा को एक्सेस करते हैं और संभावित खतरों को दूर करते हैं। सामान्य शब्दों में कहें, तो कंप्यूटर सिस्टम और डेटा को सुरक्षित रखना इनकी ज़िम्मेदारी होती है। इन्हें व्हाइट हैट हैकर्स भी कहा जाता है।

     

    नौकरी के अवसर

     

    आईटी, साइबर सिक्योरिटी, सुरक्षा से जुड़ी सरकारी एजेंसियां और कंप्यूटर सिस्टम से जुड़ी कंपनियां आदि।

     

    हार्डवेयर इंजीनियर

     

    ये कंप्यूटर के हार्डवेयर से जुड़े काम के विशेषज्ञ होते हैं। कंप्यूटर के अलग-अलग पार्ट्स जैसे कि कंप्यूटर चिप, सर्किट, प्रिंटर, राउटर, कनेक्शन्स और उस जैसी दूसरी चीज़ों पर ये काम करते हैं। सिस्टम इंस्टॉलेशन, उनकी फंक्शनिंग, टेस्टिंग और रखरखाव की महती ज़िम्मेदारी इन्हीं पर होती है। ये कंप्यूटर मॉडल्स तैयार करते हैं और ज़रूरत पड़ने पर उनके डिज़ाइन में भी मॉडिफिकेशन भी करते हैं।

     

    नौकरी के अवसर

     

    मैन्युफैक्चरिंग फर्म, लैब, एयरोस्पेस, कंप्यूटर नेटवर्किंग डोमेन आदि

     

    टेक्निकल राइटर

     

    ये वो राइटर होते हैं, जो तकनीकी पहलुओं से ज़्यादा वाकिफ होते हैं। इनका टेक्नोलॉजी से खासा लगाव होता है। ये यूज़र मैनुअल, प्रोडक्ट डिस्क्रिप्शन, स्पेसिफिकेशन्स जैसी टेक्निकल जानकारियों को बड़े ही क्रिएटिव तरीके से यूज़र को बताते हैं। 

     

    इनके लेखन में तकनीकी दक्षता के साथ सृजनात्मकता का समावेश होता है, जिससे आम इंसान भी चीज़ों को आसानी से समझ जाते हैं। संक्षेप में कहें, तो ये वो कम्युनिकेशन एक्सपर्ट होते हैं, जो टेक्निकल इंस्ट्रक्शन्स, मैनुअल्स और ट्रेनिंग गाइड का सही डॉक्यूमेंटेशन करते हैं।

     

    नौकरी के अवसर

     

    बहुराष्ट्रीय कंपनियां, स्टार्टअप, मैन्युफैक्चरिंग कंपनियां और आईटी फर्म।

     

    डेटा साइंटिस्ट

     

    कई MCA पास आउट स्टूडेंट्स इसे एक करियर ऑप्शन के तौर पर चुनते हैं। ये डेटा एनालिसिस और इंफॉर्मेशन से जुड़े काम करते हैं। स्टेटिस्टिक्स, मॉडर्न एनालिटिक्स टूल्स और अल्गोरिथम चैनल्स का इस्तेमाल कर ये डेटा को एक बेहतर स्वरूप प्रदान करते हैं। 

     

    यहां तक कि जो डेटा तितर-बितर होते हैं, ये उनसे भी खासी इंफॉर्मेशन हासिल कर लेते हैं। सरल शब्दों में समझें, तो डेटा कलेक्ट करना, उसे मैनेज करना और एनालाइज़ करने का काम इनके वर्क प्रोफाइल का हिस्सा होता है। यही डेटा आगे चलकर कंपनियों की डिसिज़न मेकिंग में मदद करते हैं।

     

    नौकरी के अवसर

     

    टेलीकम्युनिकेशन्स, ऑटोमोटिव इंडस्ट्री, सरकारी एजेंसियां, डेटिंग ऐप्स, सोशल मीडिया ऐप्स आदि।

     

    क्लाउड आर्किटेक्ट

     

    ये आईटी क्षेत्र में काम करने वाले एक्सपर्ट होते हैं, जो किसी कंपनी या संस्था के क्लाउड कंप्यूटिंग सिस्टम को संभालते हैं। ये क्लाउड एप्लीकेशन डिज़ाइन करते हैं, उनमें मॉडिफिकेशन करते हैं और क्लाउड स्टोरेज को मैनेज करते हैं। कई बार कंपनियां कंप्यूटिंग स्ट्रेटेजी की ज़िम्मेदारी भी इन्हें सौंपती हैं।   

     

    नौकरी के अवसर

     

    ऑटोमेशन, कम्युनिकेशन, फाइनेंस, लीगल और सिक्योरिटी डोमेन इसके अलावा सॉफ्टवेयर कंसल्टेंट, क्वालिटी एनालिस्ट, प्रोजेक्ट मैनेजर और ट्रबल शूटर जैसे अहम करियर विकल्प भी अपनाए जा सकते हैं।

     

    हमें उम्मीद है कि आपको Knitter का यह ब्लॉग पसंद आया होगा। यहां आपको बिज़नेस, कृषि एवं मशीनीकरण, एजुकेशन और करियर, सरकारी योजनाओं और ग्रामीण विकास जैसे मुद्दों पर भी कई महत्वपूर्ण ब्लॉग्स मिलेंगे। आप इनको पढ़कर अपना ज्ञान बढ़ा सकते हैं और दूसरों को भी इन्हें पढ़ने के लिए प्रेरित कर सकते हैं।

     

    लेखक- कुंदन भूत

     



    यह भी पढ़ें



    करियर गाइड की अन्य ब्लॉग