सेना में जाना है सपना? 12वीं के बाद हैं ये विकल्प

सेना में जाना है सपना? 12वीं के बाद हैं ये विकल्प

रक्षा के क्षेत्र में जाकर देश सेवा करना कई भारतीय युवाओं का सपना होता है। 12वी के बाद सेना में जाने के क्या विकल्प हैं, इस ब्लॉग में पढ़ें।

18 December 2020

  • 631 Views
  • 6 Min Read

  • भारतवासियों में देशभक्ति की भावना कूट-कूट कर भरी होती है। कई युवा बचपन से ही मन में सेना में जाने का सपना पालकर बड़े होते हैं, लेकिन कई बार जानकारी के अभाव में अपना ये सपना पूरा नहीं कर पाते। 12वीं पास करना छात्रों को जीवन का एक जरूरी पड़ाव होता है। क्योंकि इसके बाद बच्चे अपनी पसंद की फील्ड चुनते हैं और उसी में अपना करियर बनाते हैं। अगर आप भी सेना में जाकर करियर बनाने की इच्छा रखते हैं तो ये ब्लॉग आपके लिए है। इसमें हम 12वीं के बाद भारतीय सेना और अर्धसैनिक बलों में नौकरी पाने की विभिन्न परीक्षाओं और भर्ती प्रक्रिया पर बात करेंगे।             

     

    भारत मे रक्षा क्षेत्र में करियर ऑप्शन्स

     

    आप अगर रक्षा के क्षेत्र में अपना करियर बनाना चाहते हैं तो आपके पास ढेरों ऑप्शन्स हैं। वायु सेना, नेवी, आर्मी के अलावा आप अर्धसैनिक बलों में जाकर भी अपना फौजी बनने का सपना पूरा कर सकते हैं। भारत में विभिन्न सैन्य बल रक्षा मंत्रालय या गृह मंत्रालय के अंतर्गत आते हैं।

     

    रक्षा मंत्रालय के अंतर्गत आने वाले सैन्य बल

    • भारतीय सेना (Indian Army)
    • भारतीय नौसेना ( Indian Navy)
    • भारतीय वायुसेना (Indian Air Force)
    • भारतीय तटरक्षक (INDIAN COAST GUARD)

     

    रक्षा मंत्रालय के अंतर्गत आने वाले सैन्य बल 

    • सीमा सुरक्षा बल (BSF)
    • केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (CISF )
    • केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (CRPF)
    • इंडो तिब्बती सीमा पुलिस (ITBP)
    • सशस्त्र सीमा बल (SSB)
    • असम राइफल्स (Assam Rifles )

     

    सेना में जाना है सपना? 12वीं के बाद हैं ये विकल्प

     

    12वीं के बाद कैसे बने सैनिक

     

    हर साल लाखों युवा सेना में भर्ती होने के लिए तैयारी करते हैं और हजारों युवाओं को हर साल सेनाओं में नौकरियां दी जाती हैं। सेना में भर्ती होने के लिए आपको कड़ी फिटनेस परीक्षा (ग्राउंड टेस्ट) से गुजरना पड़ता है और लिखित परीक्षा के माध्यम से आपकी बुद्धि और ज्ञान को परखा जाता है। भारत की अलग-अलग सेनाओं में भर्ती के लिए अलग-अलग प्रक्रियाएं और परीक्षाएं होती हैं। जिनमें से कुछ मुख्य परीक्षाएं/प्रक्रियाएं निम्नलिखित है।

     

    आर्मी भर्ती रैली 

     

    भारतीय सेना द्वारा समय-समय पर जिलेवार भर्ती रैलियों का आयोजन किया जाता है, जिसकी जानकारी विज्ञापनों और ऑफिशियल वेबसाइट के माध्यम से दी जाती है। 12वीं पास छात्र सिपाही रैंक के विभिन्न पदों पर भर्ती किए जाते हैं। सामान्य वर्ग के लिए आयु सीमा 16.5 से 23 साल होती है।

    प्रक्रिया: ग्राउंड टेस्ट में शारीरिक दक्षता परीक्षा और मेडिकल चेकअप के बाद लिखित परीक्षा के आधार पर आवेदकों का चयन किया जाता है। सामान्य वर्ग के लिए आयु सीमा 16.5 से 23 साल होती है।

     

    SSC के माध्यम से भर्ती:

     

    सभी पैरामिलिट्री फोर्सेज(ITBP, CISF,SSB, CRPF etc.) में कर्मचारी चयन आयोग(SSC) के माध्यम से भर्तियां करवाई जाती हैं। अर्धसैनिक बलों में 10वीं पास उम्मीदवार भी कॉन्स्टेबल पद के लिए आवेदन कर सकते हैं। सामान्य वर्ग के लिए आयु सीमा 17 से 23 साल होती है। 

    प्रक्रिया: ग्राउंड टेस्ट में शारीरिक दक्षता परीक्षा और मेडिकल चेकअप के बाद लिखित परीक्षा के आधार पर आवेदकों का चयन किया जाता है।

    *सभी पैरामिलिट्री फोर्सेज में आवश्यकतानुसार अलग से भी आवेदन मांगे जाते हैं। जिसकी जानकारी वेबसाइट या विज्ञापनों के माध्यम से दी जाती है।

     

    NDA (नेशनल डिफेंस एकेडमी)

     

    नेशनल डिफेंस एकेडमी में चार साल तक ट्रेनिंग करने पर आर्मी/नेवी/एयरफोर्स में सीधे लेफ्टिनेंट पद पर तैनाती मिलती है। साथ ही ट्रेनिंग के दौरान स्टाइपेंड भी दिया जाता है। UPSC द्वारा साल में दो बार एनडीए की परीक्षा आयोजित की जाती है। इसके लिए 12वीं पास 16.5 से 19 साल के पुरुष ही अप्लाई कर सकते हैं। 

    प्रक्रिया: लिखित परीक्षा के बाद पांच दिन तक SSB में इंटरव्यू प्रक्रिया चलाई जाती है जिसमें अभ्यर्थी की शारीरिक और मानसिक क्षमता को परखा जाता है। इसके बाद मेरिट और पसंद के आधार पर आवेदक को थल, वायु और जल सेना के लिए सिलेक्ट किया जाता है। चार साल की ट्रेनिंग के बाद कैडेट्स सीधा लेफ्टिनेंट पद पर नियुक्त होते हैं।

     

    टेक्निकल एंट्री स्कीम(TES):

     

    इंडियन आर्मी में हर साल टेक्निकल एंट्री स्कीम के माध्यम से हर साल कई पद निकाले जाते हैं। इसमें कैडेट को इंजीनियरिंग की कई स्ट्रीम में कोर्सेज कराए जाते हैं और ट्रेनिंग पूरी होने पर आर्मी में तकनीकी पदों पर सीधे लेफ्टिनेंट तैनात किया जाता है। इसके लिए मैथ्स और फिजिक्स विषय के साथ 12वीं में 70 प्रतिशत अंक होने जरूरी हैं। आवेदक की आयु 16.5 से 19.5 साल के बीच होनी जरूरी है। 

     

    प्रक्रिया : इसमें कोई लिखित परीक्षा नहीं होती, 12वीं के अंको के हिसाब से मेरिट लिस्ट तैयार की जाती है। मेरिट में आये आवेदकों को पांच दिन की एसएसबी(SSB) इंटरव्यू के लिए बुलाया जाता है, इसमें उमीदवार को साइकोलॉजिकल टेस्ट, ग्रुप टेस्ट एवं इंटरव्यू से गुजरना होता है। इसके बाद मेरिट के आधार पर तीन तकनीकी संस्थानों यानि सीएमई, एमसीटीई, एमसीईएमई में नियुक्ति प्रदान की जाएगी इसके बाद  चार साल की ट्रेनिंग के बाद सीधे लेफ्टिनेंट के तौर पर पोस्टिंग होती है।

     

    सोल्जर एंट्री स्कीम

     

    12वी में साइंस विषय (मेडिकल या नॉन मेडिकल) से पास छात्र विभिन्न पदों के लिए आवेदन कर सकते हैं। इसके तहत सोल्जर टेक्निकल(तकनीकी हथियार, तोपखाने, सेना वायु रक्षा), सैनिक क्लर्क / स्टोर कीपर तकनीकी (सभी शस्त्र), सैनिक नर्सिंग सहायक (सेना चिकित्सा कोर), सिपाही फार्मा (सेना चिकित्सा कोर), सोल्जर नर्सिंग असिस्टेंट वेटरनरी (रिमाउंट वेटनरी कोर) इत्यादि पदों के लिए आवेदन कर सकते हैं। इसके लिए 16.5 से 19.5 उम्र के 12वीं पास पुरुष ही आवेदन कर सकते हैं। इसके लिए joinindianarmy.nic.in के माध्यम से हर साल में दो बार पद भरे जाते हैं।

     

    प्रक्रिया: सोल्जर एंट्री स्कीम में भर्ती रैली के माध्यम से सिलेक्शन किया जाता है। फिजिकल फिटनेस टेस्ट और मेडिकल में सिलेक्ट होने के बाद उन्हें लिखित परीक्षा के लिए बुलाया जाता है। लिखित परीक्षा में मेरिट में आने वाले आवेदकों को फिर 5 साल की ट्रेनिंग के लिए भेजा जाता है और इसके बाद भारतीय सेना में उन्हें तैनाती दी जाती है।

     

    सेना और अर्धसैनिक बलों में जाने के इच्छुक लिए 10वीं पास आवेदक भी कई पदों पर भर्ती रैली के माध्यम से अपना सपना पूरा कर सकते हैं। वहीं ग्रेजुएट आवेदकों के लिए सीडीएस के माध्यम से सेना में जाने का दरवाजा खुला रहता है। इस ब्लॉग में आपको 12वीं के बाद सैनिक बनने के सभी ऑप्शन्स बताए गए हैं। उम्मीद है बताई जानकारियों से आप फायदा ले पाएंगे।



    यह भी पढ़ें



    करियर गाइड की अन्य ब्लॉग