जानें क्या है हिमाचल की कौशल विकास भत्ता योजना?

जानें क्या है हिमाचल की कौशल विकास भत्ता योजना?

हिमाचल प्रदेश की कौशल विकास भत्ता योजना बेरोज़गारों को आर्थिक सहायता प्रदान करने के साथ-साथ उनका कौशल विकास भी कर रही है। आइए, इस पर एक नज़र डालें।


प्रतिस्पर्धा के इस दौर में कौशल विकास (skill development) सबसे बड़ी ज़रूरत बन गई है। ये एक ऐसा पहलू है जो इंसान की लाइफ और करियर दोनों बदल सकता है। इसका प्रभाव इतना व्यापक है कि सरकारें भी इस पर बल दे रही हैं। केंद्र के अलावा कई राज्य सरकारें भी युवाओं के कौशल विकास के लिए योजनाएं चला रही हैं। देश का पर्वतीय राज्य हिमाचल प्रदेश भी इसमें पीछे नहीं है।

 

इस छोटे से राज्य ने स्किल डेवलपमेंट की भूमिका को न सिर्फ समझा है, बल्कि इसके दूरगामी परिणामों के मद्देनज़र एक पुख्ता रणनीति भी बनाई है। यही कारण है कि राज्य में कौशल विकास भत्ता योजना जैसी यूथ-सेंट्रिक स्कीम चलाई जा रही है।

 

यहां बताना ज़रूरी है कि बीते कुछ सालों में इस योजना ने प्रदेश के युवाओं के जीवन को नई दिशा देने में मदद की है और लगातार लोगों की दिलचस्पी इसमें बढ़ी है। यहां तक कि सरकार भी निरंतर इसके बजट में बढ़ोतरी कर रही है। वर्ष 2020-21 के बजट के दौरान इस योजना के लिए 100 करोड़ रूपये आवंटित किए गए हैं, जो कि सराहनीय है।

 

हिमाचल की कौशल विकास भत्ता योजना

 

तो चलिए, आज Knitter के इस ब्लॉग के ज़रिए इस योजना पर एक नज़र डालते हैं।

 

योजना क्या है?

 

यह हिमाचल सरकार द्वारा चलाई जा रही एक योजना है जिसके तहत स्किल डेवलपमेंट की ट्रेनिंग लेने वाले बेरोज़गार युवाओं को 1000 रुपये प्रतिमाह का भत्ता दिया जाता है। वहीं दिव्यांगों को 1500 रुपये प्रतिमाह का भत्ता प्रदान किया जाता है। करीब 2 साल की अवधि तक बेरोज़गारों को इस भत्ते का लाभ मिलता है।

 

योजना का उद्देश्य क्या है?

 

प्रदेश के बेरोज़गारों को आर्थिक सहायता प्रदान करना और उनका कौशल विकास करना ही इस योजना का प्रमुख उद्देश्य है। इससे लोगों की आर्थिक और सामाजिक स्थिति को भी बेहतर बनाया जा सकेगा। वहीं, स्वरोज़गार को भी बल मिलेगा।

 

योजना के लाभ क्या हैं?

  • बेरोज़गारों को वित्तीय सहायता मिलती है।
  • उनमें नए स्किल्स डेवलप होते हैं।
  • दिव्यांगों की स्थिति बेहतर होती है।
  • बेरोज़गारी कम करने में मदद मिलती है।
  • स्वरोज़गार के नए अवसर पैदा होते हैं।

 

इसकी पात्रता क्या है

  • आवेदक का बेरोज़गार होना अनिवार्य है।
  • उसे हिमाचल प्रदेश का स्थाई निवासी भी होना होगा।
  • राज्य सरकार द्वारा मान्यता प्राप्त संस्था से आठवीं पास करना ज़रूरी होगा।
  • लेकिन यदि उसे बढ़ई, लोहारी या प्लम्बिंग जैसे काम की ट्रेनिंग चाहिए, तो उसके लिए किसी मिनिमम क्वालिफिकेशन की ज़रूरत नहीं पड़ेगी।
  • आवेदक का प्रदेश के रोज़गार कार्यालय में पंजीकृत होना भी अनिवार्य है।
  • साथ ही परिवार की वार्षिक आय भी 2 लाख रुपये से कम होनी चाहिए।
  • उसकी उम्र 16 से 36 वर्ष के बीच होनी चाहिए।
  • वह किसी भी तरह के स्वरोज़गार से नहीं जुड़ा होना चाहिए।
  • उसे किसी सरकारी नौकरी से ना निकाला गया हो।
  • उसने किसी अपराध में 48 घंटे से अधिक जेल में न बिताए हो।
  • उसका स्किल डेवलपमेंट की ट्रेनिंग में एनरोल होना भी ज़रूरी है।

 

ज़रूरी कागज़ात

  • ऐड्रेस प्रूफ
  • आधार कार्ड
  • शैक्षणिक प्रमाण पत्र (मार्कशीट, डिग्री या डिप्लोमा)
  • जन्म प्रमाण पत्र
  • आय प्रमाण पत्र
  • पासपोर्ट साइज़ फोटो
  • दिव्यांगता से जुड़ा प्रमाण (यदि आवेदक दिव्यांग है तो)
  • बैंक पास बुक की फोटो कॉपी
  • फॉर्म सी (सेल्फ डिक्लेरेशन के लिए)

 

आवेदन की प्रक्रिया:

  • आप अपने नज़दीकी रोज़गार कार्यालय में आवेदन कर इस योजना का लाभ ले सकते हैं।
  • सबसे पहले रोज़गार कार्यालय जाकर योजना से जुड़ा फॉर्म लें। उस फॉर्म में मांगी गई जानकारियां भरें और ज़रूरी दस्तावेज़ों के साथ उसे जमा कर दें।
  • आप चाहें, तो अपना आवेदन रोज़गार कार्यालय के पते पर पोस्ट भी कर सकते हैं।
  • इस योजना का फॉर्म वेबसाइट से डाउनलोड भी किया जा सकता है।
  • आवेदन के साथ आपको स्वघोषणा यानी self-declaration से जुड़ा एक फॉर्म भी भरना होगा।

 

इस तरह से आप इस योजना की ओर अपने कदम बढ़ा सकते हैं।

 

हमें उम्मीद है कि आपको हिमाचल प्रदेश के कौशल विकास भत्ता योजना पर लिखा Knitter का यह ब्लॉग पसंद आया होगा। इस ब्लॉग में हमने इस योजना से जुड़ी कई बातें बताईं। हमने आपको बताया कि ये योजना क्या है? इसके फायदे क्या हैं? और आप किस तरह से इसके लिए आवेदन कर सकते हैं?

 

यदि आप इस योजना को और विस्तार से जानना चाहते हैं तो आप नीचे दिए गए लिंक पर जाकर इससे जुड़ी कुछ अन्य जानकारियां भी हासिल कर सकते हैं।

https://himachal.nic.in/showfile.php?lang=1&dpt_id=14&level=2&lid=20052&sublinkid=19618

 

हम आशा करते हैं कि आप आगे भी Knitter के साथ बने रहेंगे और ऐसे इंटरेस्टिंग ब्लॉग्स पढ़ते रहेंगे। 

 

आपको बता दें कि Knitter पर आपको कृषि एवं मशीनीकरण, सरकारी योजनाओं और ग्रामीण विकास जैसे मुद्दों पर भी कई महत्वपूर्ण ब्लॉग्स मिल जाएंगे। आप इन ब्लॉग्स को पढ़कर अपना ज्ञान बढ़ा सकते हैं।

राज्य सरकार की योजनाएं की अन्य ब्लॉग