डायलिसिस के लिए यहां नहीं लगेगी फीस, जानें वजह

देश का पहला किडनी अस्पताल, जहां नहीं है कैश काउंटर

दिल्‍ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधन कमेटी ने दिल्ली में किडनी मरीज़ों के इलाज के लिए अस्पताल बनवाया है, जहां कोई कैश काउंटर नहीं है। यहां सब फ्री है।

10 March 2021

  • 306 Views
  • 2 Min Read

  • देश में किडनी के मरीज़ों की संख्या हर दिन बढ़ रही है, लेकिन इलाज और अस्पताल के हालात किसी से छिपे नहीं हैं। किडनी के मरीज़ों के लिए अस्पताल तो हैं, मगर उनमें इलाज करवा पाना आम इंसान के लिए आसान नहीं है। वजह है, अस्पतालों में लगने वाली मोटी रकम, जिसके साथ कोई समझौता नहीं किया जाता।

     

    किडनी के ऐसे मरीज़ों के लिए एक अच्छी खबर है। दिल्ली के बाला साहिब गुरुद्वारे में एशिया का सबसे बड़ा डायलिसिस अस्पताल खुल गया है। यहां डायलिसिस के लिए मरीज़ को  कोई रकम नहीं देनी होगी, यहां इलाज मुफ्त में  होगा। 

     

    7 मार्च को हुआ उद्घाटन

     

    बता दें कि गुरु हरिकिशन इंस्‍टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज एंड रिसर्च किडनी डायलिसिस अस्‍पताल का उद्घाटन 7 मार्च को किया गया है।

     

    राजधानी दिल्ली में दिल्‍ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधन कमेटी (Delhi Sikh Gurudwara Management Committee) ने किडनी डायलिसिस अस्‍पताल की शुरुआत की है। इसे बाला साहिब गुरुद्वारे के एक हिस्से में खोला गया है।  

     

     

    अस्पताल में नहीं है कैश काउंटर

     

    अस्पताल में हाईटेक सुविधाएं मौजूद हैं। इस अस्पताल में इलाज के लिए मरीज़ों को कोई फीस नहीं देनी होगी। अस्पताल में किडनी मरीज़ों का इलाज मुफ्त किया जाएगा। देश का ये इकलौता ऐसा अस्पताल है, जहां कोई कैश काउंटर नहीं है। रोगियों के लिए यहां रजिस्ट्रेशन काउंटर है।  

     

    6 महीने में तैयार हुआ अस्पताल

     

    आधुनिक मशीनों से लैस इस अस्पताल को महज़ 6 महीने में तैयार किया गया है। अस्पताल में 101 बेड हैं। अस्पताल में डायलिसिस की 100 मशीनें लगाई गई हैं। एक बार में 500 मरीज़ यहां डायलिसिस करवा सकते हैं। 

     

    अस्‍पताल में 50 बेड और 50 हवाई जहाज के बिजनेस क्‍लास में मिलने वाली इलेक्ट्रिक कुर्सियां हैं। यहां लगाई गई मशीनें जर्मनी से मंगवाई हैं। 

     

    ऑनलाइन रजिस्‍ट्रेशन के बाद होगा इलाज

     

    अस्पताल में गरीब मज़दूरों का इलाज किया जाएगा। इसके लिए रोगियों को फिलहाल अस्पताल में आकर रजिस्ट्रेशन करवाना पड़ रहा है। लेकिन, आगे ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन की सुविधा शुरू की जा रही है। इससे DSGMC की वेबसाइट पर जाकर लोग रजिस्ट्रेशन करवा सकेंगे। नंबर आने पर मरीज़ों को यहां बुलाया जाएगा।

     

    मुफ्त में दवाइयां और खाना

     

    अस्पताल में इलाज करवाने वाले मरीज़ों से दवाइयों का पैसा भी नहीं लिया जाएगा। मरीज़ों को खाना भी दिल्‍ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधन कमेटी की ओर से निःशुल्क दिया जाएगा। ये खाना लंगर से ही आएगा। मरीज़ दिनभर गुरुवाणी का आनंद ले पाएंगे।

     

    तो अब दिल्ली के बाला साहिब गुरुद्वारे में किडनी के मरीज़ों का मुफ्त इलाज होगा। बस एक क्लिक के ज़रिए उनका रजिस्ट्रेशन होगा। 

     

    ये तो थी आपकी सेहत से संबंधित जानकारी। इसके अलावा Knitter पर आपको कृषि एवं मशीनीकरण, एजुकेशन और करियर, सरकारी योजनाओं और ग्रामीण विकास जैसे मुद्दों पर भी कई महत्वपूर्ण ब्लॉग्स मिलेंगे, जिनको पढ़कर अपना ज्ञान बढ़ा सकते हैं और दूसरों को भी इन्हें पढ़ने के लिए प्रेरित कर सकते हैं।

     

    ✍️ लेखक- नितिन गुप्ता

     



    यह भी पढ़ें



    ट्रेंडिंग टॉपिक की अन्य ब्लॉग