जानें इंडियन एयरफोर्स में जाने से जुड़ी हर जानकारी

भारतीय वायुसेना में एंट्री के लिए ये टिप्स हैं ज़रूरी

युवाओं में भारतीय वायु सेना में एंट्री का क्रेज है। एयरफोर्स का मतलब सिर्फ पायलट बनना ही नहीं बल्कि और भी विकल्प हैं जिनसे आप अपने सपनों को उड़ान दे सकते हैं।

24 January 2021

  • 720 Views
  • 6 Min Read

  • अगर आप भी दुनिया की चौथी सबसे बड़ी वायुसेना का हिस्सा बनना चाहते हैं तो ज़रूरत है कि आपको हर वो बात पता हो जिसका ताल्लुक इंडियन एयरफोर्स में एंट्री से है। यही वजह है कि आज हम आपको इंडियन एयरफोर्स में एंट्री से जुड़ी हर जानकारी देंगे। हम आपको बताएंगे...

    • इंडियन एयरफोर्स की जानकारी 
    • इंडियन एयरफोर्स की शाखाएं
    • कैसे होगी इंडियन एयरफोर्स में एंट्री
    • एयरफोर्स में होने वाली स्पेशल एंट्री 
    • एयरफोर्स में एंट्री के लिए UES स्कीम

     

    भारतीय वायुसेना (INDIAN AIR FORCE) 

    जोश, जज़्बे और जुनून का दूसरा नाम है इंडियन एयरफोर्स। 8 अक्टूबर 1932 को जब भारतीय वायुसेना की स्थापना रॉयल इंडियन एयरफोर्स के रूप में की गई थी, तब किसी को अंदाज़ा भी नहीं था कि ये एक दिन दुनिया की चौथी सबसे बड़ी वायुसेना बन जाएगी। भारतीय वायुसेना  (INDIAN AIR FORCE) महज़ पेशा नहीं बल्कि देश का गौरव है। यही वजह है कि युवाओं में इसके लिए अलग ही दीवानगी देखी जा सकती है। यही वजह है कि Knitter के इस ब्लॉग (BLOG) में हम आपको इंडियन एयरफोर्स में एंट्री से हर जानकारी देंगे।

     

    भारत के राष्ट्रपति भारतीय वायुसेना के सुप्रीम कमांडर होते हैं, जबकि फोर स्टार रैंक एयर चीफ मार्शल भारतीय वायुसेना की सभी कार्यप्रणाली के लिए ज़िम्मेदार होते हैं। भारत की आज़ादी से लेकर अब तक भारतीय वायुसेना चार युद्ध लड़ चुकी है, जिसमें 3 पाकिस्तान और एक चीन के साथ लड़ा गया है।

     

    अगर आपको आसमान में उड़ने का शौक है तो आप भी भारतीय वायु सेना (Bhartiya Vayu Sena) में शामिल ज़रूर हों। लेकिन उससे पहले ये जान लेना ज़रूरी है कि ऐसे कितने माध्यम हैं जो आपके इस सपने को साकार कर सकते हैं तो आइए अपने इस सफर को शुरू करते हैं जानकारियों के साथ…

     

    इंडियन एयरफोर्स की शाखाएं

     

    जानें इंडियन एयरफोर्स में जाने से जुड़ी हर जानकारी

     

    सबसे पहले आपको बता दें कि इंडियन एयरफोर्स का मतलब सिर्फ पायलट बनना नहीं होता। इसकी कई शाखाएं हैं, जिनके साथ मिलकर पूरी फोर्स तैयार होती है। तो आइए आपको बताते हैं भारतीय वायुसेना की महत्वपूर्ण शाखाएं:- 

    • फ्लाइंग ब्रांच (flying branch)- महिला या पुरुष पायलट इसी ब्रांच का हिस्सा होते हैं। इनका काम विमानों को उड़ाना होता है। इसमें फाइटर पायलट, हेलीकॉप्टर पायलट और ट्रांसपोर्ट पायलट शामिल होते हैैं।
    • ग्राउंड ड्यूटी ब्रांच (ground duty branch)- ये कंट्रोल टावर और मौसम संबंधी कार्यों से जुड़ी हुई शाखा है। इस शाखा का काम पायलट के साथ को-ऑर्डिनेशन का होता है। इसके भी दो हिस्से होेते हैं-
    1. ग्राउंड ड्यूटी ब्रांच (टेक्निकल): टेक्निकल ब्रांच विमान और वायुसेना के अन्य उपकरणों से संबंधित है।
    2. ग्राउंड ड्यूटी ब्रांच (नॉन-टेक्निकल ): नॉन-टेक्निकल ब्रांच में लॉजिस्टिक्स, लेखा, शिक्षा, प्रशासन और चिकित्सा शामिल है।

     

     

    ऐसे होगी भारतीय वायुसेना में एंट्री

    10वीं से लेकर ग्रेजुएशन तक ऐसे कई मौके मिलते हैं, जब आप देश की शान इंडियन एयरफोर्स (IAF) का हिस्सा बन सकते हैं। आइए आपको एक-एक करके सबकी जानकारी सिलसिलेवार तरीके से बताते हैं।

           

    1- 10वीं के बाद एंट्री 

     

    IAF में लोअर ग्रेड के पदों में शामिल होने के लिए 10वीं के बाद परीक्षा (EXAM) करवाई जाती है। जिनमें मल्टी टास्किंग स्टाफ (MTS), स्टेनोग्राफर, कारपेंटर, मैसेंजर, माली, फिटर आदि शामिल हैं।

    योग्यता-

    • कम से कम 10वीं पास होना ज़रूरी, कुछ में ITI का डिप्लोमा चाहिए होगा

     

    2- 12वीं यानी 10+2 के बाद 

     

    अगर आप सेना में सीधे ऑफिसर रैंक पर जॉइन करना चाहते हैं तो 12वीं पास करने के बाद एनडीए (NDA) एक अच्छा विकल्प है। NDA यानी नेशनल डिफेंस एकेडमी (राष्ट्रीय रक्षा अकादमी) में एडमिशन पाना युवाओं का सपना होता है। जिसके बाद आप सीधा अफसर रैंक के लिए चुने जाते हैं। यह परीक्षा संघ लोक सेवा (https://www.upsc.gov.in/) आयोग ही करवाता है।

    योग्यता- 

    • उम्र 16.5 से 19 साल होनी चाहिए
    • 12वीं पास (12वीं के पेपर दे रहे छात्र भी आवेदन कर सकते हैं) 
    • एयरफोर्स के लिए 12वीं में गणित और फिजिक्स ज़रूरी
    • हाइट कम से कम 157 सेंटीमीटर होनी चाहिए 

    एनडीए के बारे में और अधिक जानकारी के लिए आप  Knitter चैनल का ये ब्लॉग भी पढ़ सकते हैं- https://blog.knitter.co.in/join-forces-through-nda

     

    3- ग्रेजुएशन के बाद 

     

    अगर किसी वजह से आप 12वीं में NDA की परीक्षा (EXAM) देने से चूक गए हैं तो चिंता की कोई बात नहीं क्योंकि ग्रेजुएशन (GRADUATION) के बाद आपके पास एक और मौका है। इसमें संघ लोक सेवा आयोग (https://www.upsc.gov.in/) कंबाइंड डिफेंस सर्विस (CDS) की परीक्षा करवाती है। ये परीक्षा साल में 2 बार होती है। IAF (indianairforce.nic.in) में सिलेक्ट होने के लिए एयरफोर्स कॉमन एडमिशन टेस्ट (AFCAT) में भी शामिल हो सकते हैं। सिलेक्शन के बाद उम्मीदवारों को IAF अपने किसी एक प्रशिक्षण संस्थान में ट्रेनिंग देता है।

    योग्यता- 

    • ग्रेजुएशन के साथ 10+2 में गणित और फिजिक्स ( Maths&Physics)
    • उम्र 19 से 24 साल होनी चाहिए

     

    4- पोस्ट ग्रेजुएशन के बाद 

     

    पोस्ट ग्रेजुएशन के बाद अभ्यर्थी टेक्निकल या ग्राउंड ड्यूटी ब्रांच में शामिल हो सकता है। इसके साथ ही अगर आपके पास एयरोनॉटिक्स या इलेक्ट्रॉनिक्स में डिग्री है तो वो IAF में शामिल हो सकते हैं।

    योग्यता-

    • अभ्यर्थी की आयु 20 से 26 वर्ष के बीच में होनी चाहिए
    • विवाहित है तो वह 25 वर्ष तक अविवाहित रहना चाहिए
    • पोस्ट ग्रेजुएशन कम से कम 60% अंकों के साथ होनी चाहिए

     

    5- NCC के ज़रिए स्पेशल एंट्री

     

    अगर आप कॉलेज लाइफ से ही राष्ट्रीय कैडेट कोर यानी NCC का हिस्सा हैं तो आप एयर फोर्स में स्पेशल एंट्री के पात्र भी हो सकते हैं बशर्ते आपके पास NCC का ‘C’ सर्टिफिकेट हो। इसमें पुरुष और महिलाओं दोनों की स्पेशल एंट्री होती है।

    योग्यता

    • 10+2 में गणित और भौतिकी में 60% अंक
    • 60% के साथ ग्रेजुएशन
    • एनसीसी एयर विंग डिवीजन ‘C’ सर्टिफिकेट

     

    6- यूनिवर्सिटी एंट्री स्कीम (UES)

    इसका फायदा वो अभ्यर्थी उठा सकते हैं जो वर्तमान में Be/B.Tech डिग्री के अपने आखिरी साल में हैं। बस इस बात का ध्यान रखें कि आपके किसी भी पेपर में बैकलॉग न हो।

    • सभी पेपर में कम से कम 60 प्रतिशत अंक

    जब बात नौकरी की है, करियर (CAREER) की है तो आप सैलरी ज़रूर जानना चाहेंगे तो आइए अब आपको इंडियन एयरफोर्स में मिलने वाली औसत सैलरी की जानकारी देते हैं।

    अधिकारियों का शुरुआती मासिक वेतन

    • फ्लाइंग ब्रांच: 74,264 रु
    • तकनीकी शाखा: 65,514 रु
    • ग्राउंड ड्यूटी शाखा: 63,014 रु

     

    विशेष- ये सैलरी अनुमानित है भत्तों के साथ इसमें बढ़ोतरी हो सकती है, सालाना वृद्धि भी अलग है अधिक जानकारी के लिए इस लिंक पर क्लिक करें-  https://afcat.cdac.in/AFCAT/payAllowances.html 

     

    भारतीय वायुसेना के कर्मचारियों को मिलने वाली सुविधाएं

     

    • मुफ्त या कम शुल्क पर सुसज्जित आवास, बिजली, पानी आदि
    • छुट्टी के लिए LTC योजना
    • मुफ्त अस्पताल, कैंटीन जैसे लाभ
    • आजीवन पेंशन (यदि सेवा कम से कम 20 वर्ष है)

     

    हमें उम्मीद है कि आपको Knitter का यह ब्लॉग पसंद आया होगा। Knitter पर आपको बिज़नेस के अलावा कृषि एवं मशीनीकरण, एजुकेशन और करियर, सरकारी योजनाओं और ग्रामीण विकास जैसे मुद्दों पर भी कई महत्वपूर्ण ब्लॉग्स मिल जाएंगे। आप इन ब्लॉग्स को पढ़कर अपना ज्ञान बढ़ा सकते हैं और दूसरों को भी इन्हें पढ़ने के लिए प्रेरित कर सकते हैं।

     

    ✍️लेखक- नितिन गुप्ता   

     



    यह भी पढ़ें



    करियर गाइड की अन्य ब्लॉग