कोरोना से रहें सावधान, डरा रहे हैं आंकड़े

वैक्सीनेशन 1 करोड़ के पार, फिर भी अलर्ट रहने की ज़रूरत

कोरोना को हराने के लिए जंग जारी है। देश में वैक्सीनेशन की प्रक्रिया के साथ सावधानी की ज़रूरत है। वजह है वो आंकड़े, जो महाराष्ट्र जैसे राज्य से आ रहे हैं।

19 February 2021

  • 424 Views
  • 2 Min Read

  • कोविड-19 महामारी को हराने के लिए दुनिया का सबसे बड़ा वैक्सीनेशन अभियान भारत में चल रहा है। अब तक 1 करोड़ से ज़्यादा लोगों को कोरोना वैक्सीन दी जा चुकी है। कोरोना वैक्सीन की डोज़ लेने वाले हेल्थ केयर और फ्रंटलाइन वर्कर्स हैं। 

     

    भारत में कोरोना वैक्सीनेशन का अभियान इस साल 16 जनवरी से  शुरू हुआ था। वैक्सीन लगाने के मामले में दुनिया में भारत का स्थान अब 5वां हो चुका है। अमेरिका में 5 करोड़, चीन में 4 करोड़, यूरोपियन यूनियन में 2 करोड़ लोगों को कोरोना की रोकथाम का टीका लगाया जा चुका है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, भारत प्रत्येक देशवासी को कोरोना का टीका देने की दहलीज पर खड़ा है।

     

    वैक्सीनेशन में टॉप-5 राज्य

     

    राज्य

    डोज 

    उत्तर प्रदेश

    10,23,988

    गुजरात

    8,31,739

    महाराष्ट्र

    8,05,514

    राजस्थान

    7,62,602

    मध्य प्रदेश

    6,05,399

    *आंकड़े 18 फरवरी तक के हैं

     

    पूरे देश में वैक्सीनेशन अभियान तेज़ी से चलाया जा रहा है। वहीं, महाराष्ट्र में एक बार फिर कोरोना कहर बनकर टूट रहा है। आंकड़ों पर गौर करें तो महाराष्ट्र में कोरोना की तीसरी लहर दिखाई दे रही है, इसलिए बेहद ज़रूरी है कि हम सावधान रहें और स्वास्थ्य विभाग द्वारा दिए गए निर्देशों का पालन करें। 

     

    महाराष्ट्र में कोरोना

     

    महाराष्ट्र के अलग-अलग शहरों में कोरोना वायरस का संक्रमण रफ्तार पकड़ रहा है। मुंबई और नागपुर के हालात बेहद खराब हैं। गुरुवार को सरकार के कई मंत्रियों और बड़े नेता भी वायरस की चपेट में आ गए।  इन नेताओं में कुछ ऐसे हैं, जिन्हें दोबारा कोरोना हुआ है।

     

    महाराष्ट्र में कोरोना के आंकड़े

     

    दिन

    संख्या

    18 फरवरी

    5427

    17 फरवरी

    4787

    16 फरवरी

    3663

     

    महाराष्ट्र के बढ़ते आंकड़े डरावने हैं, क्योंकि कुछ इस तरह के आंकड़े उस वक्त देखे गए थे, जब कोरोना अपने चरम पर था। अगर गौर करें तो गुरुवार को पूरे देश में मिलने वाले संक्रमितों में से करीब 40 फीसदी केवल महाराष्ट्र के ही हैं। 

     

     

    18 फरवरी को देश का कोरोना ग्राफ कुछ ऐसा था

     

    • नए मरीज़ मिले- 12,826
    • ठीक हुए मरीज़- 10,489 
    • कोरोना से मौत- 86 

     

    वैसे महामारी के खिलाफ जंग अभी जारी है। इसलिए ज़रूरी है कि हम एहतियात के साथ रहें। वैक्सीनेशन की प्रक्रिया के साथ-साथ सावधानी ही हमें इस महामारी से बचा सकती है। इसलिए इन नियमों का पालन ज़रूर करें…

     

    • हमेशा मास्क पहनकर ही  बाहर निकलें
    • सार्वजनिक स्थानों पर 3 मीटर की दूरी बनाए रखें
    • नियमित रूप से हाथ धोते रहें
    • सेनेटाइजेशन का पूरा ध्यान रखें 
    • खांसी, बुखार या जुकाम होने पर तुरंत हेल्पलाइन नंबर पर संपर्क करें

     

    तो ये थे कोरोना से बचने के उपाय। लेकिन, आपको बता दें कि Knitter पर आपको कृषि एवं मशीनीकरण, एजुकेशन और करियर, सरकारी योजनाओं और ग्रामीण विकास जैसे मुद्दों पर भी कई महत्वपूर्ण ब्लॉग्स मिलेंगे, जिनको पढ़कर अपना ज्ञान बढ़ा सकते हैं और दूसरों को भी इन्हें पढ़ने के लिए प्रेरित कर सकते हैं। 

     

     

    ✍️ लेखक- नितिन गुप्ता

     



    यह भी पढ़ें



    ट्रेंडिंग टॉपिक की अन्य ब्लॉग