छात्राओं को इंजीनियर बनने में मदद करेगी CBSE उड़ान योजना

छात्राओं को इंजीनियर बनने में मदद करेगी CBSE उड़ान योजना

CBSE की उड़ान योजना के तहत लड़कियों को 11वीं के बाद इंजीनियरिंग एग्जाम्स के लिए निःशुल्क तैयारियां करवाई जाती हैं।

16 January 2021

  • 593 Views
  • 6 Min Read

  • भारत में लड़कियों को टेक्निकल और इंजीनियरिंग फील्ड के लिए ज़्यादा प्रोत्साहन नहीं मिलता। इसलिए देश के टॉप इंजीनियरिंग कॉलेजों में लड़कों के मुकाबले लड़कियों की संख्या काफी कम है। इंजीनियरिंग की तरफ छात्राओं को प्रेरित करने के लिए सीबीएसई द्वारा उड़ान योजना शुरू की गई है। इसके तहत 11वीं के बाद छात्राओं को ऑनलाइन/ऑफलाइन माध्यमों से इंजीनियरिंग एग्जाम की तैयारी के लिए फ्री कोचिंग दी जाती है, जिससे वे टॉप इंजीनियरिंग कॉलेजों में प्रवेश पा सकें। आइये इस योजना के बारे में विस्तार से जानते हैं।

     

    क्या है उड़ान योजना?

     

    उड़ान योजना,मानव संसाधन एवं विकास मंत्रालय के मार्गदर्शन में सीबीएसई द्वारा संचालित की जाती है। इसके तहत छात्राओं को अच्छे इंजीनियरिंग संस्थानों से पढ़ाई करने के लिए प्रोत्साहित किया जाता है। योजना के तहत इंजीनियरिंग की प्रवेश परीक्षाओं की तैयारी के लिए उन्हें अच्छा स्टडी मटेरियल और एक्सपर्ट टीचर्स से मार्गदर्शन मुहैया करवाया जाता है। इसके लिए हर साल देशभर से 1000 लड़कियों का मेरिट के आधार पर चयन किया जाता है।

     

    योजना का उद्देश्य

     

    उड़ान योजना का मुख्य उद्देश्य छात्राओं को इंजीनियरिंग की पढ़ाई के लिए तैयार करना है। योजना के तहत छात्राओं को इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षा के लिए तैयार किया जाता है, ताकि वे देश के टॉप कॉलेजों से इंजीनियरिंग की पढ़ाई कर पाएं।

     

    योजना के तहत मिलने वाले लाभ

    • ग्यारहवीं और बारहवीं की छात्राओं को इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षा की तैयारी के लिए नि:शुल्क सहायता मिलती है।
    • ऑनलाइन स्टडी मटेरियल और वीडियो लेक्चर्स उपलब्ध करवाए जाते हैं।
    • तैयारी के बेहतर फीडबैक के लिए असाइनमेंट्स डिजाइन किए गए हैं।
    • देशभर की मेधावी छात्राओं के साथ पढ़ने और सलाह लेने का मौका मिलता है।
    • छात्राओं और अभिभावकों के लिए मोटिवेशनल सेशन का आयोजन किया जाता है।
    • करीब 60 शहरों में बनाए गए सेंटर्स में वर्चुअल कॉन्टेक्ट क्लासेज का आयोजन करवाया जाता है।
    • स्टूडेंट हेल्पलाइन के माध्यम से छात्राएं पढ़ाई में आने वाली समस्याओं को हल कर सकती हैं।
    • छात्राओं की पढ़ाई की निगरानी की जाती है और उन्हें निरंतर फीडबैक मिलता है।

     

    योग्यता

    • इस योजना का लाभ केवल भारतीय छात्राओं को ही मिलेगा।
    • किसी भी मान्यता प्राप्त बोर्ड से संबद्ध स्कूल में 11वीं कक्षा में पढ़ने वाली छात्राएं आवेदन कर सकती हैं।
    • छात्रा 11वीं कक्षा में फिजिक्स, केमिस्ट्री, मैथ्स (PCM) सब्जेक्ट्स के साथ पढ़ाई कर रही हो।
    • छात्रा के 10वीं में कम से कम 70 प्रतिशत अंक हों। वहीं विज्ञान और गणित विषय में 80 प्रतिशत अंक अनिवार्य हैं। (कम से कम 8 CGPA और मैथ्स व सांइस में 9 GPA)
    • छात्रा के परिवार की सालाना आय 6 लाख रुपये से कम होनी चाहिए।
    • योजना के तहतOBC (NCL) को 27%, SC को 15%, ST को 7.5%, PWD को 3% सीटों पर आरक्षण मिलेगा।

     

    सीबीएसई उड़ान योजना

     

     

    कैसे करें अप्लाई

    • योजना की आधिकारिक वेबसाइट http://cbseacademic.nic.in/ पर जाएं। 
    • अप्लाई बटन पर क्लिक करने के बाद योजना संबंधी फॉर्म में मांगी गई जानकारियां भरें।
    • स्कैन किये गए पासपोर्ट साइज़ फोटो और हस्ताक्षर अपलोड करें।
    • भरे हुए एप्लिकेशन फॉर्म को प्रिंट करवाएं और स्कूल के प्रिसिंपल से वेरिफाई करवाएं।
    • वेरिफाई किए गए एप्लिकेशन फॉर्म को सभी दस्तावेज़ों के साथ नज़दीकी उड़ान सिटी सेंटर के कोऑर्डिनेटर के पास जमा करवाएं।

     

    योजना के तहत हर साल 1000 लड़कियों को मेरिट के आधार पर सिलेक्ट किया जाता है। चुनी गई छात्राओं को उड़ान पोर्टल पर इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षा (JEE- Joint Entrance Exam) की तैयारी के लिए बेहतरीन किताबें और वीडियो लेक्चर्स उपलब्ध करवाए जाते हैं। एक बार लॉग-इन करने के बाद उनकी पढ़ाई पर निगरानी रखी जाती है। उनकी समस्याओं को सुलझाने के लिए उन्हें हेल्पलाइन नंबर भी मुहैया करवाए जाते हैं।

     

    तो यदि आप या आपका कोई जानकार इस योजना का पात्र है तो इसका लाभ जरूर उठाएं। इसके तहत छात्राओं को आगे बढ़ने का मौका मिलेगा और वे समाज निर्माण में भागीदार हो सकेंगी। Knitter चैनल पर आपको ऐसी कई लाभकारी योजनाओं के बारे में लगातार जागरूक किया जाता है। आप चैनल पर जाकर हमारे अन्य ब्लॉग भी पढ़ सकते हैं और फायदा उठा सकते हैं।



    यह भी पढ़ें



    स्कॉलरशिप की अन्य ब्लॉग