बागवानी में करियर: हर सवाल का यहां मिलेगा जवाब

करियर का अच्छा विकल्प है बागवानी, यहां मिलेगी पूरी जानकारी।

इंजीनियरिंग, एमबीए और डॉक्टर के पेशों के बीच बागवानी नया विकल्प बनकर आया है। अगर सही मार्गदर्शन मिले तो बागवानी (Horticulture course) में अच्छा करियर बन सकता है

18 January 2021

  • 735 Views
  • 5 Min Read

  • कृषि और किसान (Agriculture & Farmer’s) का विस्तार है बागवानी में करियर और अब ये सेक्टर गांवों तक सीमित नहीं है। आधुनिकता और परंपरा का संगम है बागवानी। यही वजह है कि 21वीं सदी में ये करियर नेचर के प्रति आकर्षित युवाओं और छात्रों (Youth & Student) के लिए बेहतर विकल्प साबित हो रहा है। निटर इस ब्लॉग में युवाओं की ऐसी ही कुछ समस्याओं का समाधान लेकर आया है।

     

    बागवानी (Horticulture) में करियर कैसे बन सकता है? इसके बारे में जानकारी का अभाव हमेशा से छात्रों और युवाओं के लिए चुनौती रहा है। जानकारी के अभाव में स्टूडेंट इसमें करियर नहीं बना पाते हैं।

     

    हम इस ब्लॉग में बागवानी में करियर (Career in Horticulture) से जुड़े आपके सवालों का जवाब देने की कोशिश करेंगे। तो आइए आपको बताते हैं कि आज हम आपको क्या-क्या जानकारी देने जा रहे हैं…  

    • बागवानी क्या है? 
    • बागवानी में भारत की भूमिका 
    • बागवानी में क्या करते हैं?
    • बागवानी में कौन से कोर्स करेंगे मदद?
    • बागवानी में पढ़ाते क्या हैं?
    • बागवानी से जुड़े बड़े संस्थान?
    • बागवानी में मिलने वाली जॉब्स?
    • बागवानी के करियर में कमाई?
    • एक्सपर्ट की सलाह

     

    बागवानी (Horticulture) क्या है? 

     

    इसमें कोई दो राय नहीं है कि खाद्यान्न फसलों की तुलना में बागवानी करने के कई फायदे हैं। खाद्यान्न फसलों की तुलना में बागवानी का काम छोटे भू-भाग यानी कम ज़मीन पर आसानी से किया जा सकता है। भारत में अब बागवानी के भविष्य का अंदाजा आप इन आकंड़ों से लगा सकते हैं…

     

    भारत में बागवानी (Horticulture in India) को समझें

    • निया में फल-सब्ज़ियों के उत्पादन में भारत का दूसरा स्थान है
    • भारत आम, केला, नारियल, पपीते के उत्पादन में सबसे आगे है
    • भारत मसालों का सबसे बड़ा उत्पादक, निर्यात में भी सबसे आगे
    • अंगूर, कसावा और मटर के उत्पादन में भी भारत सबसे आगे
    • फल-सब्जियों के निर्यात में मूल्य के आधार पर 14 प्रतिशत वृद्धि दर
    • प्रोसेसिंग फलों-सब्जियों में 16.27 प्रतिशत वृद्धि दर

     

    मतलब साफ है कि बागवानी के मामले में भारत अन्य देशों की तुलना में काफी आगे है। यही वजह है कि अब देश का युवा विज्ञान के साथ इस क्षेत्र में आगे बढ़ना चाहता है।

     

    बागवानी में ये करते हैं

     

    दरअसल, बागवानी एग्रीकल्चर का ही एक रूप है, जिसमें हम पेड़-पौधों और खाद्य-अखाद्य फसलों के बारे में पढ़ते हैं। खाद्य फसलें जैसे कि सब्ज़ियों की पैदावार, अनाज, गेहूं, चावल, मक्का, बाजरा जैसी फसलें आती हैं। अखाद्य की बात करें तो पेड़-पौधे, फूल, पत्तियों की खेतीबाड़ी के बारे में अध्ययन किया जाता है। इसमें पैदावार के अलावा इनकी मार्केटिंग के बारे में भी काफी कुछ बताया जाता है, जिससे बागवानी (Horticulture) की हर बारीकी को समझाया जा सके।

     

     

     

    बागवानी में ये कोर्स करेंगे मदद (Horticulture courses)

     

    बागवानी में भविष्य तलाश रहे छात्रों के दिमाग में इस क्षेत्र से जुड़े कोर्स को लेकर सवाल उठते ही हैं। इस सवाल का जवाब है वे 6 मुख्य कोर्स जो भारत में बागवानी से संबंधित हैं। जिसके जरिए आप सरकारी और प्राइवेट दोनों तरह की नौकरी (Job in india) पा सकते हैं।

    1. B.Sc Horticulture- ये स्नातक कोर्स है। इसे करने में 3 साल का वक्त लगता है। इसके लिए 12वीं में विज्ञान होना ज़रूरी है। इसके जरिए आप ग्रेजुएशन की डिग्री पाते हैं।
    2. M.Sc Horticulture- ये एक मास्टर डिग्री कोर्स है, जो 2 साल में पूरा होता है।
    3. B.Tech In Horticulture- ये इंजीनियरिंग के समकक्ष एक बैचलर कोर्स है। जो 4 सालों में पूरा होता है। इसे करने के बाद आप इस फील्ड में इंजीनियर बन सकते हैं।
    4. M.Tech In Horticulture- ये भी टेक्निकल लाइन की मास्टर डिग्री है। जो 2 साल में पूरी होती है। इसका दर्जा M.Sc के बराबर ही होता है।
    5. P.hD- ये एक डॉक्टरेट डिग्री है। इसे करने के बाद आप प्रोफेसर भी बन सकते हैं। क्योंकि माना जाता है कि इसके धारक को अपने विषय का संपूर्ण ज्ञान होता है।
    6. Certificate Diploma- कुछ संस्थाएं इस विषय पर डिप्लोमा भी करवाती हैं। जो कम अवधि के होते हैं और विषय में किसी एक टॉपिक या उससे ज़्यादा पर पढ़ाई करवाते हैं। इसे करने के बाद आप इस सेक्टर में हाथ आज़मा सकते हैं।

    अब आपको बताते हैं वो प्रमुख सबजेक्ट जो बागवानी के कोर्स के दौरान छात्रों को पढ़ाए जाते हैं।

     

    बागवानी (Horticulture) में ये पढ़ाते हैं- 

     

    • फसल प्रसंस्करण (Crop Processing)
    • प्लांट पैथोलॉजी (Plant Pathology)
    • प्लांट फिज़ियोलॉजी (Plant Physiology)
    • प्लांट जैव रसायन (Plant Biochemistry)
    • प्लांट माइक्रोबायोलॉजी (Plant Microbiology)
    • पौधे का प्रजनन (Plant Breeding)
    • औषधीय पौधे (Medicinal Plants)
    • सुगंधित पौधे (Aromatic Plants)
    • वृक्षारोपण प्रबंधन (Plantation Management)
    • परिदृश्य वास्तुकला (Landscape Architecture)
    • नर्सरी प्रबंधन (Nursery Management)
    • मधुमक्खी पालन (Apiculture)
    • बीज प्रौद्योगिकी (Seed Technology)
    • मृदा विज्ञान और इंजीनियरिंग (Soil Science and Engineering)

     

    बागवानी से जुड़े बड़े संस्थान (University)-  

     

    अब आप उन संस्थानों के बारे में जानना चाहेंगे, जो इस क्षेत्र में पढ़ाई करवाते हैं। तो अब एक नज़र डालते हैं, देश के बड़े संस्थानों पर।

    1. केंद्रीय एग्रीकल्चर यूनिवर्सिटी, इम्फाल, मैनीपुर (http://www.cau.org.in/)
    2. रानी लक्ष्मीबाई सेंट्रल एग्रीकल्चर यूनिवर्सिटी, झांसी (http://www.rlbcau.ac.in/)
    3. डॉ. राजेंद्र प्रसाद सेंट्रल एग्रीकल्चर यूनीवर्सिटी, पूसा, समस्तीपुर (https://www.rpcau.ac.in/)
    4. इंडियन एग्रीकल्चरल रिसर्च इंस्टीट्यूट, दिल्ली (https://www.iari.res.in/)
    5. इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय, रायपुर (http://www.igau.edu.in/index.html)
    6. आनंद कृषि विश्वविद्यालय, गुजरात (http://www.aau.in/)
    7. केरल एग्रीकल्चरल यूनिवर्सिटी, केरल (http://www.kau.in/)
    8. जवाहरलाल नेहरू कृषि विश्वविद्यालय, जबलपुर (http://jnkvv.org/)
    9. राजस्थान एग्रीकल्चर यूनिवर्सिटी, बीकानेर (http://raubikaner.org/)
    10. गोविंद बल्लभ पंत यूनिवर्सिटी ऑफ एग्रीकल्चर एंड टेक्नोलॉजी, उत्तराखंड (https://www.gbpuat.ac.in/)


     

    बागवानी (Horticulture) में मिलने वाली जॉब्स (Jobs)

     

    कृषि केंद्र, राज्य लोक सेवा आयोग, प्राइवेट फूड सेक्टर, एजुकेशन के क्षेत्रों में नौकरी मिल सकती है। इन जगहों पर आप बतौर हॉर्टिकल्चर स्पेशलिस्ट, फ्रूट-वेजीटेबल इंस्पेक्टर, प्रोफेसर, रीडर, कृषि वैज्ञानिक, कृषि अधिकारी, तकनीकी अधिकारी, फल व सब्ज़ी निरीक्षक के रूप में काम कर सकते हैं।

     

    बागवानी के करियर (Career) में कमाई

     

    शुरुआती तौर पर वेतन के रूप में आपको 20 हजार रुपए तक मिल सकते हैं। लेकिन वक्त और आपकी काबिलियत के हिसाब से ये आंकड़ा जल्द ही बढ़कर एक लाख रुपये तक पहुंच सकता है।

     

    हमें उम्मीद है कि आपको Knitter का यह ब्लॉग पसंद आया होगा। Knitter पर आपको बिज़नेस के अलावा कृषि एवं मशीनीकरण, एजुकेशन और करियर, सरकारी योजनाओं और ग्रामीण विकास जैसे मुद्दों पर भी कई महत्वपूर्ण ब्लॉग्स मिल जाएंगे। आप इन ब्लॉग्स को पढ़कर अपना ज्ञान बढ़ा सकते हैं और दूसरों को भी इन्हें पढ़ने के लिए प्रेरित कर सकते हैं।  

     

    ✍️

    लेखक- नितिन गुप्ता

    करियर गाइड की अन्य ब्लॉग