फूड टेक्नोलॉजी में हैं करियर के उजले अवसर

फूड टेक्नोलॉजी में करियर बनाने के लिए ये कोर्स हैं उपयोगी

फूड टेक्नोलॉजी के इस्तेमाल से ही बाजार में बिकने वाले खाद्य पदार्थों को बनाया और पैक किया जाता है। आइए समझते हैं इस फील्ड में क्या संभावनाएं हैं।

07 April 2021

  • 22 Views
  • 3 Min Read

  • खाना हमारे जीवन का सबसे महत्वपूर्ण हिस्सा है। एक वक्त था, जब इंसान जिंदा रहने के लिए कंद-मूल या कच्चा मांस खा कर पेट भरता था। लेकिन, बदलते लाइफस्टाइल के साथ हमारे खान-पान की आदतें भी बदली हैं। आज हमारे पास खाने के ढेरों विकल्प मौजूद हैं। बाज़ार में रेडी टू इट या प्रोसेस्ड फूड की डिमांड लगातार बढ़ती जा रही है। लेकिन, इसका स्वाद और सेहत के पैमाने पर खरा उतरना बेहद ज़रूरी है। और ये संभव होता है फूड टेक्नोलॉजी में हो रहे लगातार विकास से। 

     

    भारत में फूड प्रोसेसिंग के क्षेत्र में सालाना 8.5 प्रतिशत की दर से वृद्धि दर्ज की जा रही है। इस क्षेत्र में रोज़गार की संभावनाएं भी बढ़ रही हैं। तो चलिए आज समझते हैं कि फूड टेक्नोलॉजी आखिर है क्या? और इस फील्ड में पढ़ाई कर छात्र अपना भविष्य कैसे उज्ज्वल बना सकते हैं?

     

    फूड टेक्नोलॉजी

     

    एक सामान्य से उदाहरण से समझें तो आलू से चिप्स बनाकर उसे उपभोक्ता तक पहुंचाने की प्रक्रिया फूड टेक्नोलॉजी है। एक फूड टेक्नोलॉजिस्ट कच्चे और तैयार माल की गुणवत्ता, स्टोरेज, साफ सफाई आदि का ध्यान रखता है। यानी कच्चे माल से खाने का उत्पाद तैयार करना, उसे लंबे समय तक प्रीज़र्व रखने लायक बनाना, उसे पैक करना और उसके स्वाद से लेकर गुणवत्ता का ख्याल रखना सब फूड टेक्नोलॉजी का हिस्सा है। 

     

    फूड टेक्नोलॉजी में प्रमुख कोर्सेज

     

    फूड टेक्नोलॉजी में जाने के लिए कई तरह के सर्टिफिकेट, डिप्लोमा, बैचलर डिग्री और पोस्ट ग्रेजुएट कोर्सेज किए जा सकते हैं। इसमें छात्रों को नए फूड आइटम्स बनाना, उनकी मेंटेनेंस , न्यूट्रिशन, पैकेजिंग आदि से संबंधित पढ़ाई करवाई जाती है। इसमें मुख्य स्पेशलाइजेशन कोर्सेज हैं-

     

    • बीएससी (B.Sc.) ऑनर्स कोर्स इन फूड टेक्नोलॉजी (3 साल)
    • बी.टेक. (B.Tech) इन फूड टेक्नोलॉजी (4 साल)
    • एम.टेक. (M.Tech) इन फूड टेक्नोलॉजी (बी.टेक. के बाद 2 साल)

     

    योग्यता

     

    फूड टेक्नोलॉजी में डिप्लोमा और सर्टिफिकेशन कोर्स 10वीं के बाद किए जा सकते हैं। वहीं, बी.टेक./बी.एस.सी. कोर्सेज के लिए 12वीं में विज्ञान विषय का होना ज़रूरी है। इसके लिए मैथ्स और बायोलॉजी दोनों विषय  के छात्र आवेदन  कर सकते हैं।

     

    फूड टेक्नोलॉजी: जानें करियर की संभावनाएं और सैलरी

     

     

    फूड टेक्नोलॉजी में एडमिशन

     

    फूड टेक्नोलॉजी के डिप्लोमा, ग्रेजुएशन डिग्री या पीजी डिग्री के लिए देश के विभिन्न कॉलेजों और विश्वविद्यालयों में एंट्रेंस एग्ज़ाम या 12वीं की पर्सेंटेज के आधार पर एडमिशन प्रक्रिया अपनाई जाती है। फूड टेक्नोलॉजी में बी.टेक. डिग्री के लिए होने वाले प्रमुख टेस्ट हैं-

     

    1. CFTRI- सेंट्रल फूड टेक्नोलॉजिकल रिसर्च इंस्टिट्यूट मैसूर द्वारा फूड टेक्नॉलोजी में डिग्री कोर्स के लिए सीएफटीआरआई एंट्रेंस एग्ज़ाम आयोजित किया जाता है।
    2. JEE- सभी तरह के बी.टेक. कोर्सेज के लिए ऑल इंडिया लेवल पर होने वाले जॉइंट एंट्रेंस टेस्ट(JEE) के रैंक के आधार पर भी बी.टेक. इन फूड टेक्नोलॉजी के कोर्सेज में एडमिशन मिलता है।
    3. IICPT- इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ क्रॉप प्रोसेसिंग टेक्नॉलोजी, तमिलनाडु फूड टेक्नॉलॉजी की पढ़ाई के लिए एक प्रतिष्ठित संस्थान है। यहां दाखिले के लिए आपको आईआईसीपीटी एंट्रेंस एग्ज़ाम पास करना पड़ता है।

     

    फूड टेक्नोलॉजी के प्रमुख सब्जेक्ट्स

     

    • फूड प्रोसेसिंग
    • डेयरी प्लांट इंजीनियरिंग
    • क्रॉप प्रोसेसिंग टेक्नोलॉजी
    • रेफ्रिजरेशन और एयर कंडिशनिंग
    • पेय प्रसंस्करण
    • फूड फर्मेंनटेशन टेक्नोलॉजी
    • बेकरी टेक्नोलॉजी
    • फूड प्लांट डिज़ाइन
    • फूड पैकेजिंग टेक्नोलॉजी

     

    फूड टेक्नोलॉजी में करियर

     

    प्राइवेट सेक्टर में- फूड टेक्नोलॉजिस्ट के पास प्राइवेट सेक्टर में संभावनाओं का अंबार है। सभी फास्ट मूविंग कंज्यूमर गूड्स (FMCG) कपंनियां जैसे आईटीसी, पतंजलि, पार्ले, पेप्सिको आदि में फूड टेक्नोलॉजिस्ट, न्यूट्रीशनल थेरेपिस्ट, प्रोडक्ट/ प्रोसेस डवलपमेंट साइंटिस्ट, क्वालिटी मैनेजर, प्रोडक्शन मैनेजर आदि के पदों पर प्रोफेशनल्स की काफी मांग रहती है।

     

    सरकारी सेक्टर में- सरकारी क्षेत्र में फूड टेक्नोलॉजिस्ट के पास प्रोफेसर, फूड इंस्पेक्टर, साइंटिस्ट आदि पदों पर करियर के सुनहरे मौके हैं। सरकारी विभाग जैसे फूड सेफ्टी स्टैंडर्ड अथॉरिटी ऑफ इंडिया (FSSAI), सरकारी प्रोयगशालाओं, खाद्य मंत्रालय जैसे कई सरकारी विभागों में फूड टेक्नोलॉजिस्ट के लिए नियुक्तियां निकाली जाती हैं।

     

    सेल्फ बिजनेस- फूड टेक्नोलॉजी में पढ़ाई के बाद व्यक्ति चाहे तो खुद का कारोबार भी शुरू कर सकता है। इसमें छोटे उद्योग लगाकर खाने-पीने की वस्तुएं तैयार की जा सकती हैं। 

     

     

    सैलरी

    फूड टेक्नोलॉजी के क्षेत्र में सरकारी और प्राइवेट सेक्टर में कम से कम 40 हज़ार रुपये प्रतिमाह से शुरुआत हो सकती है। इस क्षेत्र में अधिकतम 2 लाख रुपय तक प्रतिमाह सैलरी मिल सकती हैं।

    भारत में खेती के बढ़ते उत्पादन के चलते फूड टेक्नोलॉजी के क्षेत्र में करियर की संभावनाएं बढ़ रही हैं। इस क्षेत्र में प्रशिक्षित लोगों की काफी मांग है। तो आप यदि इस विषय में रुचि रखते हैं तो संबंधित कोर्स में एडमिशन के लिए तैयारी शुरू कर दें।

     

    फूड टेक्नोलॉजी: जानें करियर की संभावनाएं और सैलरी

     

    Knitter पर आपको कृषि एवं मशीनीकरण, एजुकेशन और करियर, सरकारी योजनाओं और ग्रामीण विकास जैसे मुद्दों पर भी कई महत्वपूर्ण ब्लॉग्स मिलेंगे, जिनको पढ़कर अपना ज्ञान बढ़ा सकते हैं और दूसरों को भी इन्हें पढ़ने के लिए प्रेरित कर सकते हैं। 

     

    लेखक- मोहित वर्मा

     



    यह भी पढ़ें



    करियर गाइड की अन्य ब्लॉग