बिहार स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड योजना

बिहार स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड योजना से पढ़ाई के लिए मिलेगा 4 लाख तक का लोन, जानें प्रक्रिया

बिहार स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड (BSCC) योजना के तहत छात्रों को पढ़ाई के लिए बिना ब्याज के लोन दिया जाता है। इस ब्लॉग में योजना पर विस्तार से जानकारी दी गई है।


पैसों के अभाव में कई बार होनहार छात्रों को भी अपनी पढ़ाई बीच में ही छोड़नी पड़ जाती है और काबिल होते हुए भी वे पीछे रह जाते हैं। आर्थिक परेशानियों के कारण किसी को पढ़ाई बीच में छोड़नी ना पड़े इसके लिए बिहार सरकार ने बिहार स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड योजना शुरू की है।

 

इस योजना के तहत 12वीं पास छात्रों को उच्च शिक्षा के लिए 4 लाख रुपये तक का लोन बिना किसी ब्याज के मुहैया करवाया जाता है। इस ब्लॉग में आप इस योजना के बारे में सभी महत्वपूर्ण बातें समझ पाएंगे। जैसे इस योजना का लाभ उठाने के लिए क्या-क्या शर्तें पूरी करनी होगी और कैसे इसके लिए आवेदन किया जा सकता है।

 

क्या है बिहार स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड योजना?

 

बिहार सरकार द्वारा चलाई जा रही इस योजना में छात्रों को 12वीं के आगे की पढ़ाई के लिए 4 लाख रुपये तक का लोन मुहैया करवाया जाता है। इस रकम पर छात्रों से कोई ब्याज नहीं लिया जाता। सरकार का उद्देश्य है कि इस योजना का लाभ उठाकर युवा बेहतर शिक्षा और रोजगार हासिल कर पाएंगे।

 

योजना का उद्देश्य

 

वर्तमान में बिहार में उच्च शिक्षा प्राप्त करने वाले छात्रों का कुल अनुपात 14.3 प्रतिशत है जबकि राष्ट्रीय स्तर पर ये अनुपात लगभग 24 प्रतिशत है। बिहार सरकार का उद्देश्य है कि आर्थिक तंगी के चलते बिहार के युवा को अपनी पढ़ाई ना छोड़नी पड़े और इस योजना के सभी छात्रों को फायदा मिल सके।  

 

बिहार स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड (BSCC) योजना

पात्रता की शर्तें 

 

  • आवेदक बिहार का स्थाई निवासी हो और उसने बिहार के मान्यता प्राप्त संस्थान ने 12वीं कक्षा उत्तीर्ण की हो।
  • आवेदक मान्यता प्राप्त शिक्षण संस्थान में उच्च शिक्षा के लिए चयनित या नामांकित होना चाहिए।
  • आवेदक को किसी अन्य स्रोत से किसी भी प्रकार का भत्ता/छात्रवृत्ति/स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड/शिक्षा ऋण या किसी प्रकार की सहायता प्राप्त ना हो।
  • आवेदक की आयु 25 वर्ष से अधिक न हो।
  • यह ऋण उच्च शिक्षा के सामान्य पाठ्यक्रमों के अलावा विभिन्न व्यावसायिक/ तकनीकी पाठ्यक्रमों बीए/ बीएससी/ इंजीनियरिंग/ एमबीबीएस/ प्रबंधन/ विधि आदि के लिए भी दिया जाता है।
  • पढ़ाई बीच में छोड़ देने पर उस लोन की बची हुई धनराशि नहीं दी जाएगी।

 

योजना का लाभ लेने के लिए जरूरी दस्तावेज़

⦁ आवेदन पत्र

⦁ आवेदक का आधार कार्ड

⦁ पैन कार्ड

⦁ डोक्युमेंट-ई (Document e)

⦁ छात्रवृत्ति पत्र की प्रतियां आदि (यदि उपलब्ध हों)

⦁ 10वीं और 12वीं कक्षा की मार्कशीट

⦁ एडमिशन का प्रमाण

⦁ स्वीकृत पाठ्यक्रम संरचना (Approved Course Structure)

⦁ शिक्षा संस्थान में दी जाने वाली फीस की सारणी (Fee Schedule)

⦁ 2 पासपोर्ट साइज फोटो (छात्र, अभिभावक/गारंटर)

⦁ पिछले साल का आय प्रमाण पत्र / फॉर्म 16

⦁ पिछले दो साल का आयकर रिटर्न

⦁ पिछले 6 महीनों की बैंक स्टेटमेंट (जिसमें खाता संख्या और आईएफएससी कोड अंकित हो )

⦁ निवास का प्रमाण (आईडी / पासपोर्ट / मतदाता पहचान पत्र / ड्राइविंग लाइसेंस)

⦁ टैक्स की रसीद

 

आवेदन की प्रक्रिया

1. आवेदक को योजना की आधिकारिक वेबसाइट www.7nischay‐yuvaupmission.bihar.gov.in पर जाकर 'न्यू रजिस्ट्रेशन' बटन पर क्लिक करना होगा।

2. इसके बाद आवेदक से नाम, मोबाइल नंबर और ईमेल आईडी पूछा जाएगा और ओटीपी वेरिफिकेशन के बाद आवेदक को मेल व एसएमएस के माध्यम से यूजरनेम और पासवर्ड दिया जाएगा।

3. वेबसाइट के होमपेज पर जाकर आवेदक को दिए गए आईडी पासवर्ड के साथ लॉग-इन करना है और पूछी गई निजी जानकारियां दर्ज करके 'नेक्स्ट' बटन पर क्लिक कर देना है। 

4. अगले मेनू में आवेदक को 'BSCC' यानी बिहार स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड योजना को चुनना है और 'अप्लाई' बटन पर क्लिक कर देना है।

5. इसके बाद आवेदक को एप्लीकेशन फॉर्म में पूछी गई सभी जानकारियां सही सही दर्ज करने के बाद 'सब्मिट' बटन पर जाना है।

6. एप्लीकेशन फॉर्म जमा हो जाने के बाद स्वीकृति पत्र (acknowledgement) की कॉपी दिखाई जाएगी, जिसे डाउनलोड या प्रिंट कर लेना है।

7. जिला निबंधन एवं परामर्श केंद्र (DRCC) से आवेदक को केंद्र में आने की तिथि और समय एसएमएस द्वारा भेजा जाएगा।

8. तय तिथि पर आवेदक को सभी जरूरी दस्तावेजों और एप्लीकेशन फॉर्म के स्वीकृति पत्र के साथ जिला निबंधन एवं परामर्श केंद्र में हाजिर होना है।

9. परामर्श केंद्र पर आवेदक के सभी दस्तावेज जांचे जाएंगे और वेरिफिकेशन के लिए भेज दिए जाएंगे। 

10. लोन पास हो जाने के बाद आवेदक को एसएमएस भेज कर इसकी पुष्टि की जाएगी और क्रेडिट कार्ड लेने के लिए आवेदक को जिला निबंधन एवं परामर्श केंद्र बुलाया जाएगा।

11. केंद्र से क्रेडिट कार्ड लेने के बाद आवेदक को कागजी कार्यवाही के लिए संबंधित बैंक की शाखा में जाना होगा।

12. सारी प्रक्रिया के बाद बैंक द्वारा आवेदक को समय पर लोन की किस्तें जारी की जाती रहेंगी और जिला निबंधन एवं परामर्श केंद्र को भी इसकी जानकारी रहेगी।

 

लोन वापसी की प्रक्रिया

 

लोन अवधि की समाप्ति और छात्र की पढ़ाई पूरी होने के बाद 2 लाख रुपये के लोन को अधिकतम 60 मासिक किस्तों या 2 लाख से ज्यादा के लोन को अधिकतम 84 मासिक किस्तों में वापस किया जा सकेगा।

ऊपर निर्धारित अवधि में रोजगार न मिलने की स्थिति में आवेदक से लोन की किस्तों की वसूली नहीं की जाएगी। इसके लिए उसे जिला निबंधन एवं परामर्श केंद्र में शपथ पत्र जमा करवाना होगा कि उसके पास रोजगार का कोई साधन नहीं है। 

यदि निर्धारित अवधि के अंदर आवेदक लोन नहीं चुकाता है तो उसके विरुद्ध तय कानून के मुताबिक कार्रवाई की जाएगी।

 

इस योजना के तहत बिहार के छात्र देश के कुल 2902 और बिहार के 528 शैक्षणिक संस्थानों में पढ़ाई के लिए लोन ले पाएंगे। सभी संस्थानों की सूची योजना की आधिकारिक वेबसाइट www.7nischay‐yuvaupmission.bihar.gov.in पर देख सकते हैं। इन संस्थानों से पढ़ाई करने के लिए छात्र बिहार स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड योजना के  तहत आसानी से लोन ले सकते हैं। इस ब्लॉग में योजना के हर पहलू के बारे में आपने जाना। Knitter पर आप सरकार द्वारा चलाई जा रही कई अन्य लाभकारी योजनाओं की सही जानकारी आसान शब्दों में ले सकते हैं। 



यह भी पढ़ें



राज्य सरकार की योजनाएं की अन्य ब्लॉग