मुख्यमंत्री कन्या उत्थान योजना

मुख्यमंत्री कन्या उत्थान योजना

‘मुख्यमंत्री कन्या उत्थान योजना’ से निर्धन बेटियों को जन्म से लेकर ग्रेजुएशन तक की पढ़ाई के लिए आर्थिक मदद मिलेगी।


 

लड़कियों के जन्म से लेकर उनके बेहतर लालन-पालन और अच्छी शिक्षा के प्रति प्रोत्साहित करने के लिए बिहार सरकार ने एक महत्वपूर्ण पहल की है। 'मुख्यमंत्री कन्या उत्थान योजना' के माध्यम से कन्या के जन्म से लेकर कॉलेज की पढ़ाई खत्म होने तक उसे सरकार से 54100 रुपये की मदद मिलती है।

 

इस योजना से जहां कन्या भ्रूण हत्या और बाल विवाह जैसी कुरीतियों को रोकने में मदद मिलेगी। वहीं, लड़कियों को बेहतर जीवन और शिक्षा मिल पाएगी। बिहार सरकार के मुताबिक इस योजना से हर साल 1.6 करोड़ लड़कियों को फायदा मिलेगा। इसके तहत बच्ची के जन्म के बाद स्नातक की पढ़ाई तक आर्थिक मदद किस्तों में दी जाएगी। जो लोग इसका लाभ उठाना चाहते हैं उन्हें ब्लॉग में योजना से जुड़ी हर बात को आसान भाषा में समझने में मदद मिलेगी।

 

क्या है बिहार सरकार की मुख्यमंत्री कन्या उत्थान योजना?

बिहार सरकार ने अप्रैल 2018 में मुख्यमंत्री कन्या उत्थान योजना को लागू किया था। इस योजना के माध्यम से सरकार द्वारा बेटी के जन्म के बाद ग्रेजुएशन की पढ़ाई होने तक उसकी हर जरूरत का ख्याल रखा जाता है। कुल 54100 रुपये की मदद सरकार द्वारा मुहैया कराई जाती है। योजना के तहत एक परिवार की सिर्फ दो बेटियों को ही ये धनराशि मिलती है।

 

योजना का उद्देश्य

  • कन्या भ्रूण हत्या को कम करना
  • कन्या शिशु मृत्यु दर को कम करना
  • लड़कियों का पंजीकरण और पूर्ण टीकाकरण
  • लड़कियों की शिक्षा को बढ़ावा
  • बाल विवाह पर रोकथाम
  • लिंग भेद को खत्म करना
  • लड़कियों को समाज में समानता दिलाना
  • बेटियों को आत्मनिर्भर बनाना

 

योजना के तहत मिलने वाले फायदे

योजना के माध्यम से निर्धन परिवार से संबंध रखने वाली लड़कियों को कुल 54,100 रुपये की आर्थिक मदद मिलती है। लड़की के जन्म के बाद से ही ये धनराशि किस्तों के माध्यम मिलनी शुरू हो जाती है।

 

लड़की के जन्म होने पर 2,000 रु
1 साल का होने पर 1000 रु
टीकाकरण होने पर 2,000 रु
यूनिफॉर्म के लिए(पहली और दूसरी कक्षा) 600 रु / वर्ष
यूनिफॉर्म के लिए(तीसरी से पांचवी) 700 रु/ वर्ष
यूनिफॉर्म के लिए(छठी से 8वीं) 1000रु/वर्ष
यूनिफॉर्म के लिए(9वीं से 12वीं)  1500रु/वर्ष

सैनिटरी नैपकिन के लिए (7वीं से 12वीं तक)

300 रुपये प्रतिवर्ष

1,800 रु
इंटर पास करने पर  10,000 रु
स्नातक उत्तीर्ण करने पर    25,000 रु

   


 पात्रता की शर्तें

  • लड़की बिहार की स्थाई निवासी होनी चाहिए
  • योजना का फायदा एक परिवार में केवल दो बेटियों को मिलेगा
  • परिवार गरीबी रेखा से नीचे होना चाहिए
  • परिवार में कोई सरकारी नौकरी में न हो
  • 12वीं करने की अधिकतम उम्र 18 साल है
  • 12वीं करने पर 10,000 की मदद केवल अविवाहित कन्या को ही मिलेगी

 

योजना का लाभ लेने के लिए जरूरी कागजात

इस योजना का लाभ लड़की के जन्म से लेकर उसके ग्रेजुएशन करने तक किस्तों में मिलता है। इसलिए अलग-अलग किस्तों के लिए निम्नलिखित दस्तावेजों की जरूरत पड़ेगी।

  • निवास प्रमाण पत्र
  • बीपीएल प्रमाण पत्र
  • मां की बच्ची के साथ फोटो
  • आधार कार्ड
  • बैंक अकाउंट नंबर
  • 12वी कक्षा की मार्कशीट
  • आयु प्रमाण पत्र
  • ग्रेजुएशन सर्टिफिकेट

 

योजना का लाभ लेने की प्रक्रिया

  • बीपीएल परिवारों को बच्ची के जन्म प्रमाण पत्र बनाने के बाद 1000 रुपये की प्रोत्साहन राशि दी जाएगी
  • घर में या निजी अस्पताल में जन्मी बच्ची का रजिस्ट्रेशन http://icdsonline.bih.nic.in/ पर जाकर करें
  • सरकारी अस्पताल में जन्मी का रजिस्ट्रेशन अस्पताल प्रशासन द्वारा किया जाता है
  • वहीं बच्ची के एक साल की होने के बाद उसका आधार कार्ड बनने पर 1000 रुपये दिए जाएंगे
  • बच्ची के 2 साल की होने के बाद उसके संपूर्ण टीकाकरण करवाने पर 2000 रुपये दिए जाएंगे
  • उपरोक्त सारा पैसा माता या पिता के खाते में दिया जाता है
  • बच्ची के स्कूल में दाखिला लेने के बाद वर्दी के लिए पहली और दूसरी कक्षा में 600 रुपये प्रतिवर्ष दिए जाएंगे
  • तीसरी से पांचवी कक्षा तक यूनिफॉर्म के लिए 700 रुपये हर साल मिलेंगे
  • छठी से आठवीं कक्षा तक वर्दी के लिए 1000 रुपये हर साल दिए जाएंगे
  • नौवीं से बारहवीं तक 1500 रुपये प्रतिवर्ष वर्दी के लिए मिलेंगे
  • सातवीं से बारहवीं कक्षा तक हर साल सैनिटरी नैपकिन के लिए 300 रुपये दिए जाएंगे
  • बारहवीं कक्षा उत्तीर्ण करने पर लड़की को 10,000 रुपये की प्रोत्साहन राशि मिलेगी
  • ग्रेजुएशन करने पर लड़की को 25000 रुपये की आखिरी किस्त दी जाएगी। इसके लिए विवाहिता भी पात्र होगी।
  • 12वीं पास और ग्रेजुएशन करने पर मिलने वाली धनराशि के लिए लड़की को http://edudbt.bih.nic.in/ पर ऑनलाइन फॉर्म भरना होगा
  • ऑनलाइन फॉर्म में निजी जानकारियां जैसे नाम, मोबाइल नंबर, बैंक खाता संख्या आदि पूछा जाएगा
  • जानकारियों का सत्यापन होने के बाद धनराशि लड़की के खाते में भेज दी जाएगी

 

उम्मीद है इस ब्लॉग में हम योजना से जुड़े सभी सवालों के जवाब दे पाए होंगे और आप इसे समझने के बाद इस योजना का लाभ उठा सकेंगे। Knitter पर ऐसी कई योजनाओं से संबंधित जानकारी आसान भाषा में उपलब्ध है। 

 

 



यह भी पढ़ें



राज्य सरकार की योजनाएं की अन्य ब्लॉग