क्या है आयुष्मान भारत योजना?

क्या है आयुष्मान भारत योजना और किसे मिलेगा इसका लाभ?

आयुष्मान भारत योजना (ABY) से करोड़ों भारतीयों को अस्पताल में मुफ्त इलाज की सुविधा मिल रही है। आइए, इस ब्लॉग के जरिए इस पर विस्तार से चर्चा करते हैं।


 

भारत के गरीब को बीमार होने पर इलाज के लिए अब खर्च की परवाह नहीं करनी पड़ेगी। सरकार की आयुष्मान भारत योजना के तहत गरीब परिवारों को निशुल्क इलाज की सुविधा दी जा रही है। आयुष्मान भारत योजना को प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के नाम से भी जाना जाता है। ये दुनिया की सबसे बड़ी हेल्थ केयर स्कीम है। इस योजना में सरकार द्वारा एक परिवार को 5 लाख रुपये का स्वास्थ्य बीमा लाभ मिलेगा। इस ब्लॉग में आयुष्मान भारत योजना से जुड़े सभी पहलुओं पर विस्तार से बात की गई है, ताकि आप भी इस योजना का लाभ उठा पाएं।

 

 क्या है आयुष्मान भारत योजना ? 

भारत सरकार की आयुष्मान भारत योजना जिसे प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना भी कहा जाता है, इसकी शुरुआत 23 सितंबर, 2018 को की गई थी। इसके तहत प्रति परिवार 5 लाख रुपये तक का मुफ्त इलाज मिलेगा, जिससे देश के लगभग 50 करोड़ लोगों को लाभ मिलेगा।

 

योजना का उद्देश्य

 

  • पैसों के अभाव में कोई उपचार से वंचित ना रहे
  • इलाज के अभाव में किसी की मौत ना हो
  • निर्धन परिवार सरकारी और गैर सरकारी अस्पतालों में इलाज करा सकें
  • गरीब परिवारों का जीवन स्तर ऊपर उठ सके
  • देश के 50 करोड़ लोगों को मिले योजना का लाभ

 

योजना के लाभ

 

प्रधानमंत्री आयुष्मान योजना के तहत लाभार्थी परिवार को 5 लाख रुपये तक का स्वास्थ्य बीमा कवर प्रतिवर्ष दिया जाता है, जिसमें निम्नलिखित मेडिकल सुविधाएं मिलती हैं:

  • चेकअप और डॉक्टरी सलाह
  • दवाइयां और इलाज से संबंधित अन्य सामान
  • उपचार से संबंधित टेस्ट
  • ऑपरेशन का खर्च
  • अस्पताल में भर्ती होने से 3 दिन पहले का खर्चा(दवाइयां, टेस्ट इत्यादि)
  • अस्पताल में भर्ती होने के बाद 15 दिनों तक रहने-खाने का खर्च

 

योजना की पात्रता 

 

योजना में शामिल होने के लिए उम्र का कोई बंधन नहीं है। वहीं परिवार के सभी लोग इस योजना का लाभ उठा सकते हैं।  आयुष्मान भारत योजना में शामिल होने के लिए सरकार द्वारा शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों के लिए अलग-अलग शर्तें तय की गई हैं।

 

ग्रामीण क्षेत्रों में योजना के पात्र

 

जिस परिवार की मुखिया महिला हो, परिवार में किसी वयस्क का न होना, परिवार में कोई दिव्यांग सदस्य हो, भूमिहीन व्यक्ति/दिहाड़ी मज़दूर, और अनुसूचित जाति/जनजाति से हो। 

ग्रामीण इलाके में बेघर व्यक्ति, कानूनी रूप से बंधुआ, आदिवासी, दान या फिर भीख मांगने वाला आदि व्यक्ति आयुष्मान भारत योजना (ABY) में शामिल होंगे। 

 

शहरी इलाकों में योजना के पात्र

 

कूड़ा बीनने वाले, भिखारी, रेडी-पटरी वाले, मजदूर, मोची, घरेलू सहायक, प्लंबर, मिस्त्री, कुली, सफाईकर्मी, पेंटर, वेल्डर

कंस्ट्रक्शन साईट पर काम करने वाले मजदूर, प्लंबर, मिस्त्री, भार ढोने वाले अन्य कामकाजी व्यक्ति 

टेलर, ड्राइवर, रिक्शा चालक, स्वीपर, सफाई कर्मी, घरेलू काम करने वाले, हैंडीक्राफ्ट का काम करने वाले लोग आदि आयुष्मान भारत योजना (ABY) में शामिल होंगे

 

योजना के लिए कैसे होगा चयन?

 

प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के लिए 2011 की जनगणना के आधार पर 10 करोड़ परिवारों का चयन किया गया है। इसमें आधार नंबर के माध्यम से परिवारों की एक सूची तैयार की गई है। जो परिवार इस योजना में सूचीबद्ध किया गया है, वो इस योजना का लाभ उठाने के लिए सरकार द्वारा पात्र माने गए हैं।

 

अपनी योग्यता की जांच कैसे करें?

 

  • योजना पात्रता जांचने के लिए सबसे पहले प्रधानमंत्री आयुष्मान भारत योजना की आधिकारिक वेबसाइट https://www.pmjay.gov.in/ पर जाएं। 
  • इसके बाद वेबसाइट के होमपेज पर 'Am I Eligible' बटन पर क्लिक करें।
  • लॉगिन के लिए अपने मोबाइल नंबर की OTP के साथ पुष्टि करें।
  • अब राज्य चुनने के बाद आप मोबाइल नंबर या राशन कार्ड नंबर डालकर आप अपनी पात्रता की जांच कर पाएंगे।
  • इसके बाद योजना का लाभ लेने के लिए आपको योजना का 'गोल्डन कार्ड' बनवाना होगा। 

 

योजना का लाभ लेने के लिए जरूरी दस्तावेज

 

  • परिवार के सभी लोगों का आधार कार्ड
  • राशन कार्ड
  • मोबाइल नंबर
  • निवास प्रमाण पत्र

 

आयुष्मान भारत योजना के ‘गोल्डन कार्ड’ के लिए आवेदन की प्रक्रिया

  • जन सेवा केंद्र (सीएससी) पर जाएं और अपने सभी दस्तावेजों की एक कॉपी जमा करें।
  • दस्तावेजों को जनसेवा केंद्र (CSC) के एजेंट द्वारा सत्यापित किया जाएगा और योजना के तहत रजिस्ट्रेशन सुनिश्चित किया जाएगा।
  • इसके बाद, 10 से 15 दिनों के बाद आपको जन सेवा केंद्र के माध्यम से आयुष्मान भारत का गोल्डन कार्ड दिया जाएगा।

 

गोल्डन कार्ड डाउनलोड कैसे करें

  • अप्लाई करने के बाद अगर आप खुद गोल्डन कार्ड डॉउनलोड करना चाहते हैं तो pmjay.csccloud.in पर विजिट करें।
  • पेज पर लॉगिन का ऑप्शन दिखेगा, यहां ईमेल आईडी और पासवर्ड डालकर साइन इन के बटन पर क्लिक करें।
  • अपने आधार कार्ड नंबर डालने के बाद अपने अंगूठे का निशान वेरीफाई करें।
  • वेरिफिकेशन के बाद 'अप्रूव्ड बेनिफिशियरी' ऑप्शन पर क्लिक करें।
  • अप्रूव्ड बेनिफिशियरी पर क्लिक करने के बाद उन सभी लोगों की लिस्ट आएगी जिनका गोल्डन कार्ड अप्रूव हुआ है।
  • लिस्ट में नाम ढूंढकर, नाम के आगे कन्फ़र्म प्रिंट के ऑप्शन पर क्लिक करें।
  • यहां क्लिक करते ही आप सीएससी वेलेट पर रिडायरेक्ट हो जाएंगे।
  • सीएससी वेलेट में सबसे पहले अपना पासवर्ड और वेलेट पिन डालें।
  • आपको कैंडिडेट के नाम के आगे डाउनलोड कार्ड का ऑप्शन नजर आएगा, इस पर क्लिक करें और कार्ड को डाउनलोड करके प्रिंट कर लें।

 

अस्पताल में कैसे मिलेगा योजना का लाभ?

योजना का लाभ लेने की प्रक्रिया बेहद आसान है। अस्पताल में भर्ती होने के बाद मरीज को गोल्डन कार्ड की कॉपी और अन्य दस्तावेज अस्पताल में जमा करवाने होंगे। कार्ड की पुष्टि होते ही बिना कोई रकम दिए इलाज शुरू हो जाएगा। इस योजना का लाभ सरकारी और निजी दोनों अस्पतालों में मिल रहा है।

 

बता दें कि इस योजना को चार राज्यों ने लागू नहीं किया है। जिसमें दिल्ली, ओडिशा, पश्चिम बंगाल और तेलंगाना शामिल है। इन राज्यों को छोड़कर अन्य सभी राज्यों में योजना सफलतापूर्वक लागू है।

 

इस योजना से देश के लाखों लोग मुफ्त इलाज करवा रहे हैं। उम्मीद है आपको इस ब्लॉग में योजना से जुड़े सभी सवालों के जवाब मिले होंगे। Knitter पर आप ऐसी कई सरकारी योजनाओं की जानकारी आसान भाषा में ले सकते हैं और उनका फायदा उठा सकते हैं।

 

केन्द्र सरकार की योजनाएं की अन्य ब्लॉग