किसानों का सम्मान है, प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना

इस योजना के तहत किसान भाइयों के खाते में सीधे रुपये ट्रांसफर होंगे। इस ब्लॉग में आप इस उपयोगी योजना के बारे में विस्तार से जानेंगे।


'प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि' भारत सरकार की एक आर्थिक पहल है जिसमें 12 करोड़ छोटे और सीमान्त किसान जिनके पास 2 हेक्टेयर (4.9 एकड़) से कम भूमि है, उन्हें सहायता के रूप में प्रति वर्ष 6 हजार रूपए दिए जाने का प्रावधान है। लेकिन अब इस शर्त को हटा दिया गया है। अब देशभर के सभी किसान इस योजना का लाभ उठा सकते हैं। 

 

यहाँ आपको बताते चलें कि इस योजना की घोषणा 1 फरवरी 2019 को भारत के अन्तरिम केंद्रीय बजट के दौरान पीयूष गोयल द्वारा की गई थी। इस योजना की लागत प्रति वर्ष 75,000 करोड़ रूपए की है जिसे दिसम्बर 2018 से लागू किया गया है। जिसके तहत ₹ 6,000 प्रति वर्ष प्रत्येक पात्र किसान को तीन किश्तों में भुगतान किया जाएगा। यह धनराशि सीधे किसानों के बैंक खातों में जमा की जाती है।  

 

यह योजना छोटे किसानों के लिए अत्यन्त उपयोगी सिद्ध हो रही है। बुआई से ठीक पहले नगदी संकट से जूझने वाले किसानों को इस नगदी से बीज, खाद और अन्य खेती की जरूरतों में सहूलियत मिल रही है। 

 

आपको बता दें, इस योजना के लिए राज्य सरकारें किसानों की जमीन(किसान बही) की जानकारी के साथ उनके बैंक खाते और अन्य ब्यौरा केंद्र सरकार को मुहैया कराती है। उसकी पुष्टि और सत्यापन के बाद केन्द्र सरकार किसानों के बैंक खातों में सीधे धन जमा करती है।

 

प्रधानमंत्री किसान निधि योजना उद्देश्य

प्रधानमंत्री किसान निधि योजना का उद्देश्य देश में छोटे और सीमांत किसानों(अब सभी किसान) को प्रत्यक्ष रूप से वित्तीय सहायता प्रदान करना है। 

 

  •  यह योजना छोटे और सीमांत किसानों को उनके निवेश और अन्य जरूरतों के लिए एक सुनिश्चत आय प्रदान करना है। 
  •  किसान की आय दोगुनी करना।
  •  यह योजना उनके ऐसे खर्चों को पूरा करते हुए उन्हें साहूकारों के चंगुल में पड़ने से बचाना और खेती के कार्यकलापों में उनकी निरंतरता सुनिश्चित करना। 

 

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना की विशेषताएं

किसानों को फायदा

भारत के 12 करोड़ किसानों को इस प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के माध्यम से आर्थिक सहायता दी जा रही है। जिससे वे कृषि संबंधित कार्य करने में सक्षम हो सकें और साथ ही उनका विकास भी हो।

आर्थिक सहायता

 इस योजना में जो लाभार्थी किसान होंगे उन्हें हमारे देश की केंद्र सरकार आर्थिक सहायता के रूप में प्रतिवर्ष 6000 रूपए की राशि प्रदान कर रही है। आपको बता दें, आने वाले समय में इस योजना में दी जाने वाली राशि में बढ़ोत्तरी भी की जा सकती है।

 

किसानों का सम्मान

ऐसे किसान जो लोन लेने के बाद लोन की राशि को समय पर चुका देते हैं, उन्हें केंद्र सरकार द्वारा सम्मानित किया जायेगा। इसके अलावा उन्हें कुछ प्रोत्साहन राशि भी दी जाएगी। 

 

पैसों का वितरण

इस योजना में किसानों को जो आर्थिक सहायता के रूप में 6000 रूपए मिलेंगे। यह राशि उन्हें 3 किस्तों में मिलेंगे अर्थात् किसानों को प्रत्येक 4 महीने बाद यह धनराशि नियमित मिलती रहेगी।

 

कैशलेस सुविधा

इस योजना में दी जाने वाली आर्थिक सहायता की राशि लेने के लिए लाभार्थी किसानों को कहीं जाने की जरुरत नहीं है, यह सीधे उनके बैंक खाते में जमा कर दी जाती है। राज्य सरकार के प्रभाव के बिना पात्र किसान के बैंक खाते में सीधे लाभ हस्तांतरण (डीबीटी-Direct Benefit Transfer) के माध्यम से दी जाती है।

 

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के लाभ

  •  यह भारत में फसल उत्पादन को बढ़ाएगा।
  •  किसान की आय बढ़ाने में मदद करेगा।
  •  इस योजना से भारत में कृषि रोजगार बढ़ेगा।
  •  इस योजना से अर्थव्यवस्था में वृद्धि होगी।
  •  जो किसान कर्ज का बकाया नहीं चुका पाएंगे उन्हें सब्सिडी मिलेगी।
  •  जो किसान पर्यावरण आपदा पीड़ित है, उन्हें आर्थिक लाभ मिल सकेगा।

 

कैसे करें अप्लाई

यदि आप एक किसान हैं और आपने अभी तक इस योजना के लिए आवेदन नहीं किया है तो हमने पूरी प्रक्रिया को आसान चरण में बताया है। आप नीचे बताए गए प्रक्रिया के अनुसार आवेदन कर सकते हैं।

 

सबसे पहले pmkisan.gov.in आधिकारिक वेबसाइट पर जाएँ

 

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना

 

इसके बाद वेबसाइट के होम पेज पर ही मौजूद फार्मर कॉर्नर पर क्लिक करें।

 

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना

 

अब न्यू फार्मर रजिस्ट्रेशन पर क्लिक करें

 

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना

 

अब यहां अपना आधार नंबर दर्ज करें, फिर कैप्चा कोड भरकर सबमिट कर दें। 

 

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना

 

उसके बाद ऐसा दिखाई देगा, “YES” पर क्लिक करके रजिस्ट्रेशन फॉर्म भरें।

 

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना

 

YES करने के बाद आवेदन फार्म में मांगी गई सभी जानकारी भरकर फॉर्म(आवेदन) सेव कर दें।

 

पीएम-किसान-सम्मान-निधि-योजना-लिस्ट-2020

 

 

इस तरह से आपका प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना 2020-21 के लिए आवेदन पूरा हो जायेगा। ये आवेदन फॉर्म आप मोबाईल फोन के माध्यम से भी भर सकते हैं या किसी सीएससी सेंटर में जाकर भी भरवा सकते हैं। 

 

पीएम किसान सम्मान निधि आवेदन प्रक्रिया काफी सरल रखी गई है जैसे हमने ऊपर कुछ चरणों में आवेदन करने के बारे में बताया है आप भी उसी प्रकार आवेदन करे और प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना का लाभ लें। 

 

आपको बता दें, इस योजना में आवेदन स्वीकार हो जाने के बाद आपको प्रत्येक 4 महीने बाद 2000 रुपए की किस्तें मिलेंगी जो कि आपके द्वारा आवेदन फॉर्म में दिए गए खाते में भेजे जायेंगे।

 

इस योजना के लिए आवश्यक कागज़ात

  1.  इसके लिए दो सबसे महत्वपूर्ण कागज़ात खसरा और खतौनी है। जिससे पता चलेगा कि आप किसान हैं। यह आपको राजस्व विभाग के ऑफिस से मिल जाएगा जिससे राजस्व लेखपाल या पटवारी बनाता है।  इसमें खेती की डिटेल होती है।
  2.  दूसरा महत्वपूर्ण डॉक्यूमेंट है खतौनी, इसमें जमीन किसके नाम है उसकी डिटेल होती है। अगर जमीन एक से ज्यादा के नाम पर है तो उसके लिए शेयर सर्टिफिकेट बनवाना होता है। इस सर्टिफिकेट पर तहसीलदार के हस्ताक्षर होते हैं।
  3.  आधार कार्ड- PM किसान के तहत सालाना 6 हजार रुपए पाने के लिए आधार नंबर देना अनिवार्य होता है।
  4.  बैंक अकाउंट नंबर- किश्त पाने के लिए आपके पास बैंक अकाउंट नंबर जरूरी हैं क्योंकि सरकार डीबीटी के जरिए किसानों को पैसे ट्रांसफर करती है।

 

 

 

 

संक्षेप में कहें तो पीएम किसान सम्मान निधि योजना छोटे किसानों को मजबूत बना रही है। इस योजना से सरकार किसानों को आर्थिक मदद देकर उनकी जरूरतों को पूरा करने की कोशिश में लगी हुई है।

 

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना अधिकांश छोटे किसान परिवारों को न केवल निश्चित पूरक आय उपलब्ध कराएगा बल्कि विशेष रूप से फसल कटाई के समय से पूर्व किसानों की आकस्मिक जरूरतों को भी पूरा करने में मदद करेगा।

केन्द्र सरकार की योजनाएं की अन्य ब्लॉग