अब आपदा से क्या डरना प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना है ना

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना

बाढ़, आँधी, ओले और तेज बारिश से फसल बर्बाद हो जाती है जिससे किसान भाइयों को आर्थिक नुकसान पहुँचता है, इसी नुकसान की भरपाई करेगी प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना।


प्राकृतिक आपदाएं ना केवल मानव जीवन को प्रभावित करती हैं, अपितु फसलों को भी बर्बाद कर देती हैं। भारत में हर साल प्राकृतिक आपदा की वजह से किसानों को भारी नुकसान उठाना पड़ता है। बाढ़, आँधी, ओले और तेज बारिश से उनकी फसल खराब हो जाती है।

 

लेकिन इन नुकसानों से बचें कैसे?

 

यह प्रश्न किसान भाई-बहनों के पास हमेशा होता है कि प्राकृतिक आपदाओं से बचने के लिए क्या करें?

 

तो किसान साथियों इसका एक ही बचाव है फसलों की बीमा। जिस तरह हमारे जीवन के लिए जीवन बीमा महत्वपूर्ण हैं, उसी प्रकार फसलों की भी बीमा आवश्यक है। 

 

आइए, इस ब्लॉग में हम लोग जानेंगे कि बीमा क्या है और इसकी हमें क्यों जरूरत है?

 

बीमा क्या है (What is insurance)

 

बीमा भविष्य में किसी नुकसान की आशंका से निपटने का हथियार है।  बीमा के जरिए ही भविष्य में संभावित नुकसान की भरपाई की जा सकती है।

 

दूसरे शब्दों में कहें तो बीमा का मतलब जोखिम से सुरक्षा है। अगर कोई बीमा कंपनी किसी व्यक्ति का बीमा करती है तो उस व्यक्ति को होने वाले आर्थिक नुकसान की भरपाई बीमा कंपनी करती है। 

 

उसी प्रकार फसल बीमा भी एक प्रकार का बीमा है जिसमें प्राकृतिक आपदाओं से हुए नुकसान की भरपाई बीमा कंपनियाँ करती है। 

 

इसी क्रम में आज हम लोग जानेंगे कि प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना क्या है? जिससे आप भी इस योजना का लाभ आसानी से उठा सकें। 

 

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना (Prime Minister Crop Insurance Scheme)

 

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना, किसानों के फसल के दौरान होने वाली प्राकृतिक दुर्घटना से हुए नुकसान की भरपाई के लिए मोदी सरकार द्वारा चलाई गई यह योजना है। इस योजना की शुरूआत 13 जनवरी 2016 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा की गई है। 

 

महत्वपूर्ण बिन्दु

  • इस योजना की प्रशासनिक देखरेख कृषि एवं किसान कल्याण मंत्रालय द्वारा की जाती है, जबकि योजना का संचालन भारतीय कृषि बीमा कंपनी (AIC) करती है।
  • यह योजना उन किसानों की प्रीमियम का बोझ कम करने में मदद करती है, जो अपनी खेती के लिए ऋण लेते हैं और खराब मौसम से फसलों का नुकसान हो जाता है। 
  • इसके तहत किसानों को खरीफ की फसल के लिए मात्र 2% प्रीमियम और रबी की फसल के लिए 1.5% प्रीमियम का भुगतान करना होता है।

 

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना (PMFBY)का उद्देश्य (Objective of Prime Minister Crop Insurance Scheme)

 

  • प्राकृतिक आपदाओं, कीटों या अन्य बीमारियों से फसलों को नुकसान की स्थिति में किसानों को बीमा कवरेज और वित्तीय सहायता प्रदान करना।
  • खेती में अपनी निरंतरता सुनिश्चित करने के लिए किसानों की आय को स्थिर करना।
  • किसानों को नवीन और आधुनिक कृषि पद्धतियों को अपनाने के लिए प्रोत्साहित करना।
  • कृषि क्षेत्र में ऋण का प्रवाह सुनिश्चित करना।

 

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना की आवेदन प्रक्रिया (Prime Minister Crop Insurance Scheme application process)

 

जो किसान प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के अन्तर्गत आवेदन करना चाहते हैं। वे इसके लिए अधिकृत ऑफिस जैसे- बैंक/PACS/ जनसेवा केंद्र/ बीमा एजेन्ट या सीधे बीमा कम्पनी में भी आवेदन कर सकते हैं। 

 

आपको बता दें कि इस योजना के लिए आप वर्ष में दो बार आवेदन कर सकते हैं।

 

1. खरीफ के मौसम में

2.  रबी के मौसम में

 

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना का लाभ लेने के लिए खरीफ फसल के लिए सरकार जून महीने से ही आवेदन प्रक्रिया शुरु कर देती है जिसके लिए आप 31 जुलाई तक आवेदन कर सकते हैं। रबी की फसल के लिए आवेदन 15 सितम्बर से 15 जनवरी की अवधि में की जाती है। 

 

इसके अलावा बागवानी और वाणिज्यिक फसलों के लिए किसान खरीफ और रबी दोनों मौसम में आवेदन कर सकते हैं। 

 

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना ऑनलाईन रजिस्ट्रेशन (Prime Minister Crop Insurance Scheme online registration)

 

आपको बता दें, इस योजना के लिए फसल की बुआई के अधिकतम 10 दिनों के अन्दर ही फॉर्म भरना होता है। आवेदन के लिए आप अपने नजदीकी सरकारी या निजी बैंक में संपर्क कर सकते हैं। इसके लिए सरकार द्वारा अधिकृत सीएससी (CSC) सेंटर पर भी संपर्क कर सकते हैं। 

 

देश के जो भी किसान इस फसल बीमा स्कीम में रजिस्ट्रेशन कराना चाहते हैं, उन्हे सबसे पहले इस योजना से जुड़ी आधिकारिक साइट पर जाना होगा। जिसका लिंक https://pmfby.gov.in/ है।

 

लिंक पर क्लिक करने के बाद आपको सबसे पहले साइट पर जाकर अपना अकाउंट बनाना पड़ेगा। इसके बाद ही आप आगे की प्रक्रिया पूरी कर पाएंगे।

 

हेल्पलाईन नंबर और वेबसाइट का पता (Helpline number and website address)

 

इस योजना के अंतर्गत देश के किसानों के लिए हेल्पलाइन नंबर भी जारी किया गया है। यदि किसी किसान को इस योजना के जुड़ी कोई परेशानी है, तो वह नीचे दिए गए हेल्पलाइन नंबर पर संपर्क करके अपनी परेशानी का निवारण प्राप्त कर सकते हैं और इस योजना से जुड़ी अधिक जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

 

अधिक जानकारी प्राप्त करने के लिए आप फ़ोन नंबर–  011-23381092 पर फोन कर सकते हैं। 

 

इन नंबरों पर आप सोमवार से शुक्रवार सुबह 10 बजे से शाम 6 बजे तक फोन कॉलकर विस्तृत जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

 

अधिक जानकारी के लिए आप प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना की सरकारी वेबसाइट https://pmfby.gov.in/  से भी प्राप्त कर सकते हैं। इसके अलावा http://agri-insurance.gov.in/  पर भी विजिट कर सकते हैं।

 

बीमा योजना की प्रीमियम दरें और अंशदान (Insurance Rates Premium and Contribution)

 

जैसा हमने ब्लॉग के शुरूआत में बता चुके हैं कि खरीफ फसल के लिए आपको बीमित राशि का 2% और रबी की फसल के लिए 1.5% और बागवानी/वाणिज्यिक फसलों के लिए 5% की प्रीमियम राशि का भुगतान करना होगा, जबकि शेष धनराशि का भुगतान सरकार द्वारा किया जाता है। 

 

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना की पात्रता (Eligibility of Prime Minister Crop Insurance Scheme)

 

इस योजना के लिए सभी प्रकार के किसान आवेदन कर सकते हैं। जो किसान खेती-बाड़ी करते हैं, इस योजना का लाभ ले सकते हैं। इसके अंतर्गत उन किसानों को भी शामिल किया गया है जिनके पास खुद की जमीन नहीं है परन्तु दूसरे के जमीन पर कृषि करते हैं। 

 

यहाँ यह भी बता दें कि जिन किसानों ने किसान क्रेडिट कार्ड बनवा लिए हैं या किसान क्रेडिट कार्ड से ऋण लिए हैं उन्हें प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के लिए आवेदन की आवश्यकता नहीं होती है। उनका बीमा किसान क्रेडिट कार्ड से ही हो जाता है। परन्तु अन्य किसानों को इसके आवेदन करना पड़ता है। 

 

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के लिए जरूरी क़ागजात (Prime Minister Crop Insurance Scheme required)

 

इसके लिए किसानों को जरूरी क़ागजात भी देना होता है, जैसे-  

  1.  आवेदन करने वाले किसान का पासपोर्ट साईज़ फोटो
  2.  पहचान पत्र(आधार कार्ड)
  3.  निवास की पहचान पत्र
  4.  यदि खेत आपका अपना है, तो खेत का खसरा नंबर, खाता संख्या
  5.  फसल बुवाई का प्रमाण/फसल का विवरण
  6.  यदि पार्टनर फील्ड या रेंट पर है तो पार्टनर या ओनर के साथ एग्रीमेंट की कॉपी की फोटोकॉपी
  7.  बैंक खाता संख्या
  8.  किसान क्रेडिट कार्ड इत्यादि

 

प्रधानमंत्री फसल बीमा के लिए अधिकृत मुख्य कंपनियाँ (Prime companies authorized for crop insurance)

 

कृषि और किसान कल्याण मंत्रालय ने भारत के कृषि बीमा कंपनी (AIC) और किसी भी निजी बीमा कंपनियों का चयन किया है, जो सीधे सरकार द्वारा प्रायोजित कृषि / फसल बीमा योजनाओं में भाग लेने के लिए अपने वित्तीय स्वास्थ्य, बुनियादी ढांचे, श्रमशक्ति और विशेषज्ञता पर आधारित हैं। वर्तमान में सूचीबद्ध बीमा कंपनियां हैं।

 

  • Agriculture Insurance Company of India Ltd
  • ICICI-Lombard General Insurance Company Ltd
  • HDFC-ERGO General Insurance Company Ltd.
  • IFFCO-Tokio General Insurance Company Ltd.
  • Cholamandalam MS General Insurance Company Ltd.
  • Bajaj Allianz General Insurance Company Ltd.
  • Reliance General Insurance Company Ltd.
  • Future Generali India Insurance Company Ltd.
  • Tata-AIG General Insurance Company Ltd.
  • SBI General Insurance Company Ltd.
  • Universal Sompo General Insurance Company Ltd.

 

 

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना एक दृष्टि में

 

मुख्य बिन्दु

स्कीम

स्कीम का नाम

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना

किसके द्वारा लांच किया गया

प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी

शुभारंभ करने की तिथि

13 जनवरी 2016

किस मंत्रालय के अंतर्गत है

कृषि और किसान कल्याण मंत्रालय

लक्षित समूह

भारत के किसान

उद्देश्य

प्राकृतिक आपदा से फसल के नुकसान से बीमा कवर

बीमा कंपनियों का नाम

भारत की कृषि बीमा कंपनी (AIC) और निजी कंपनियाँ

किसानों द्वारा दी जाने प्रीमियम राशि

खरीफ की फसल के लिए 2%, रबी की फसल के लिए 1.5%, बागवानी और वार्षिक वाणिज्यिक फसल के लिए 5%

निगरानी निकाय

राज्य स्तर पर: राज्य स्तरीय समन्वय समिति

राष्ट्रीय स्तर पर: राष्ट्रीय स्तर की निगरानी समिति (एनएलएमसी)

 

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के लाभ (Benefits of Prime Crop Insurance Scheme)

 

  • प्रधान मंत्री फसल बीमा योजना के माध्यम से, किसान अपनी फसल के नुकसान की वसूली कर सकेंगे।
  • सरकार द्वारा प्रीमियम की राशि बहुत कम निर्धारित की गई है ताकि पीएमएफबीवाई योजना का लाभ सभी किसानों को आसानी से मिल सके।
  • आप किसी भी प्रकार के प्राकृतिक आपदा जैसे बारिश, ओलावृष्टि, अधिक बारिश के लिए प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना का भी लाभ उठा सकते हैं।

 

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना का आवेदन करने के बाद आप निश्चिंत होकर जीवनयापन कर सकते हैं। इस योजना का लाभ सभी प्रकार की प्राकृतिक आपदा से नुकसान होने पर ले सकते हैं।

 

पीएम फसल बीमा योजना का क्लेम कैसे करें (How to claim PM Crop Insurance Scheme)

 

प्राकृतिक आपदा से नुकसान होने पर आप 14 दिनों के अंदर बैंक जाकर ऑफलाइन फॉर्म भरना होता है। इसके लिए आप https://pmfby.gov.in/  लिंक पर ऑनलाइन आवेदन भी कर सकते हैं। इसके लिए आपके पास आवेदन भरते समय जो कागजात मांगी गई थी, उन डाक्यूमेंट्स का होना अनिवार्य है। 

 

फसल उपज के आंकड़े बीमा कम्‍पनी को उपलब्‍ध होने के 15 दिवस के भीतर बीमा क्‍लेम का भुगतान का प्रावधान हैा

 

 

संक्षेप में कहें तो प्रधानमंत्री फसल बीमा कोई भी किसान प्राकृतिक आपदा से बचने के लिए इस योजना का लाभ उठा सकते हैं। इसके अंतर्गत किसान बहुत ही कम प्रीमियम दरों पर फसल बीमा ले सकते हैं।

केन्द्र सरकार की योजनाएं की अन्य ब्लॉग