मध्य प्रदेश की सोलर पम्प योजना के लिए ऐसे करें आवेदन

मध्य प्रदेश की सोलर पम्प योजना के लिए ऐसे करें आवेदन

मुख्यमंत्री सोलर पम्प योजना किसानों की सिंचाई संबंधी मुश्किलों को दूर कर रही है जिससे राज्य में कृषि को बल मिल रहा है। आइए, इसकी आवेदन प्रक्रिया को समझते हैं।


कृषि क्षेत्र में लगातार बदलाव हो रहे हैं और इन बदलावों में सरकारी योजनाओं की भी अहम भूमिका है। केेंद्र और राज्य सरकारें समय-समय पर अलग-अलग योजनाएं लागू करतीं हैं और किसानों को इनका लाभ भी मिलता है। मध्यप्रदेश की मुख्यमंत्री सोलर पम्प योजना भी उन्हीं में से एक है। तो चलिए, यह जानने की कोशिश करते हैं कि हमारे किसान भाई इस योजना के लिए कैसे आवेदन कर सकते हैं। 

 

 

किसान ऐसे कर सकेंगे योजना के लिए आवेदन:

 

  •  सबसे पहले आपको मध्यप्रदेश सरकार की योजना संबंधी आधिकारिक वेबसाइट https://cmsolarpump.mp.gov.in  पर जाना होगा।
  • वेबसाइट पर क्लिक करते ही आपको उसके पहले पेज पर दाहिने ओर ‘नवीन आवेदन करें’ का विकल्प मिल जाएगा। जैसे ही आप उस पर क्लिक करेंगे, आप सीधे लॉग इन पेज पर पहुंच जाएंगे।
  • लॉग इन पेज पर आपको अपना मोबाइल नंबर दर्ज करना होगा और ‘ओटीपी भेजें’ के विकल्प पर क्लिक करना होगा। इसके बाद आपके मोबाइल पर एक ओटीपी आएगी, जिसे आपको स्क्रीन पर ओटीपी के लिए निर्धारित की गई जगह पर दर्ज करना होगा। जैसे ही आप ओटीपी डालेंगे, आपके सामने जानकारी संबंधी एक पेज खुल जाएगा।
  • यह पेज आपको बिल्कुल किसी ऑनलाइन फॉर्म की तरह नज़र आएगा। आपको उस फॉर्म में पूछी गईं जानकारियों को भरना होगा और पेज के निचले हिस्से में दिए गए ‘सुरक्षित करें’ के बटन पर क्लिक करना होगा। क्लिक करते ही एक अन्य पेज खुल जाएगा जहां आपको कुछ और जानकारियां भरनी होंगी।
  • इन जानकारियों को भरने के बाद आपको नीचे दिए गए NEXT बटन पर क्लिक करना होगा, जिससे आपके सामने एक केवाईसी संबंधी पेज खुलेगा।
  • इस पेज पर आपको अपना आधार नंबर डालना होगा। यहां आपको ओटीपी तथा बायोमेट्रिक का विकल्प नज़र आएगा। आपको बस ओटीपी का विकल्प चुनना है और Send OTP पर क्लिक करना है। इसके बाद फोन पर मिले ओटीपी को स्क्रीन में दर्ज करना है और अंत में Next के बटन पर क्लिक करना है।
  • इतना करते ही आपकी ई-केवाईसी की प्रक्रिया पूरी हो जाएगी और आपके स्क्रीन पर इससे जुड़ा एक संदेश भी नज़र आएगा।
  • इसके बाद आपको स्क्रीन पर Next  का बटन दबाना है और इसी तरह आगे बढ़ते हुए अपने बैंक खाते, समग्र आईडी, जाति, खसरा तथा सोलर पम्प से जुड़ी जानकारियां भरनी है। इतना करने के बाद आपको अपना आवेदन सब्मिट करना है। अच्छी बात यह है कि सब्मिट करने से पूर्व आपको अपने द्वारा दी गईं जानकारियों को जांचने का अवसर भी मिलेगा। 
  • अंत में आपको बस स्वघोषणा (self declaration) से जुड़ी जानकारियां पढ़कर चेकबॉक्स में क्लिक करना है और आवेदन को सुरक्षित करना है। यहां आपको प्रिन्ट का विकल्प भी मिलेगा जिसका उपयोग कर आप उस डॉक्यूमेन्ट को भविष्य के लिए सुरक्षित रख सकते हैं।
  • इसके अतिरिक्त जैसे ही आप आवेदन को सुरक्षित करेंगे आपको आवेदन से जुड़ा एक एसएमएस भी मिलेगा। इसके साथ ही आप ऑनलाइन पेमेंट के विकल्प की तरफ बढ़ जाएंगे। अब स्क्रीन पर आपको Pay Now का विकल्प  मिलेगा जिसके ज़रिए आप इस प्रक्रिया को पूरी तरह अंजाम दें सकेंगे। क्यों, है ना आसान?

 

हालांकि इस प्रक्रिया को पूरा करने से पहले आवेदक किसान का यह जानना भी आवश्यक है कि वह इस योजना के लाभ के लिए पात्र है या नहीं। तो चलिए, एक नज़र हम पात्रता संबंधी जानकारियों पर भी डाल लेते हैं। 

 

 

 किसान, जो होंगे इस योजना के पात्र:

 

  • इस योजना का लाभ लेने के लिए आवेदक किसान के पास अपनी ख़ुद की ज़मीन होनी चाहिए।  
  • उसके पास सिंचाई का एक स्थाई स्रोत भी होना ज़रूरी है।
  • इसके अतिरिक्त किसान को यह भी सुनिश्चित करना होगा कि योजना के तहत मिलने वाले सोलर पम्प का उपयोग वह सिंचाई के लिए ही करेगा।
  • उसे सोलर पम्प लगाने के लिए मध्यप्रदेश ऊर्जा विकास निगम लिमिटेड (MP Urja Vikas Nigam Limited) से अनुमति भी लेनी होगी।
  • उसे एडवांस के तौर पर आवेदन राशि भी देनी होगी। इसके बाद बची हुई राशि उसे निर्धारित समय सीमा में जमा करानी होगी।

 

ये तो हुई पात्रता की बात। लेकिन इस बीच इस प्रक्रिया को पूरा करने के लिए किसान के पास ज़रूरी दस्तावेज़ होने भी अनिवार्य है। बेहतर होगा यदि हम उन ज़रूरी दस्तावेज़ों पर भी अपनी नज़र डाल लें।

 

दस्तावेज़ जो किसानों को दिलाएंगे सोलर पम्प:

  • निवास प्रमाण पत्र
  • किसान कार्ड
  • आधार कार्ड
  • ऐड्रेस प्रूफ
  • खेत की ज़मीन के कागज़ात
  • पासपोर्ट साइज़ फोटो

 

अगर आप किसान हैं और आप इस योजना में दिलचस्पी रखते हैं, तो इस प्रक्रिया को पूरा करने के दौरान इन सारी बातों का ध्यान रखना आपके लिए फायदेमंद साबित होगा। 

 

हमें उम्मीद है कि इस ब्लॉग में दी गईं जानकारियों से आपको योजना की आवेदन प्रक्रिया को समझने में मदद मिली होगी। यदि आप इस योजना के बारे में और अधिक जानकारी चाहते हैं तो सोलर पंपों की क्षमता पर लिखा हमारा ब्लॉग एमपी सोलर पम्प योजना के पम्पों की क्षमता को जानें ज़रूर पढ़ें।



यह भी पढ़ें



राज्य सरकार की योजनाएं की अन्य ब्लॉग